लखनऊ, राज्य ब्यूरो । यूपी में कोरोना से बचाव के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान में अब तक 19 प्रतिशत बच्चों ने ही टीके की दोनों डोज लगवाई है। प्रदेश में 12 वर्ष से 14 वर्ष की आयु के कुल 84.65 लाख बच्चों को वैक्सीन लगाई जानी है और 16 लाख ने टीके की दोनों डोज लगवाई है। वहीं 67.7 लाख यानी 80 प्रतिशब बच्चे वैक्सीन की पहली डोज लगवा ली है।

टीके की पहली डोज के मुकाबले दूसरी डोज लगवाने में बच्चे कम दिलचस्पी दिखा रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा बच्चों के टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश के बाद घर-घर टीमें भेजकर दूसरी डोज लगवाने के लिए बच्चों को प्रेरित किया जा रहा है और जिलों में इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर की मदद से अभिभावकों को फोन कर वैक्सीन लगवाने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है।

अभी तक स्कूलों में कैंप लगाकर बच्चों को टीके लगाए जा रहे थे लेकिन अब ग्रीष्मावकाश के कारण कैंप ढंग से नहीं लग पा रहे। राज्य टीकाकरण अधिकारी डा. अजय घई के मुताबिक टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए सभी संभव प्रयास किए जा रहे हैं। अभिभावकों को चाहिए कि वह अपने बच्चे को पहली डोज लगवाने के 28 दिन बाद सरकारी अस्पताल जाकर दूसरी डोज जरूर लगवाएं। इन्हें कोर्बेवैक्स वैक्सीन लगाई जा रही है।

12 वर्ष से 14 वर्ष की उम्र के बच्‍चों को 16 मार्च से वैक्सीन लगाए जाने की शुरुआत हुई थी। वहीं 15 वर्ष से 18 वर्ष के बीच की उम्र के कुल 1.40 करोड़ किशोरों में से 1.32 करोड़ किशोरों ने टीके की पहली और उसमें से 70 लाख ने दोनों डोज लगवा ली है। वहीं 18 वर्ष से अधिक उम्र के कुल 14.74 करोड़ वयस्कों को टीका लगाया जाना है।

Edited By: Prabhapunj Mishra