लखनऊ, जेएनएन। चारबाग रेलवे स्टेशन पर कोराेना का खतरा बढ़ने लगा है। यहां तैनात एक और जीआरपी सिपाही कोरोना पॉजीटिव मिला है। अब कोरोना  पॉजीटिव जीआरपी जवानों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है। वहीं चारबाग आरपीएफ पोस्ट में मुंशी के पद पर तैनात एक जवान भी पॉजीटिव निकला है। जवान की पत्नी को भी कोरोना के लक्षण हैं। आरपीएफ पोस्ट में उसके संपर्क में आने वाले सात जवानों को क्वारांटाइन किया है। जवान डाक लेकर डीआरएम आफिस में वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त के पास भी कई बार आया है। इसलिए आयुक्त के  आफिस को 24 व आरपीएफ पोस्ट को 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है।

चारबाग स्टेशन पर तैनात एक जीआरपी सिपाही सोमवार को जबकि तीन सिपाही बुधवार को पॉजीटिव मिले थे। सोमवार को जहां 11 सिपाहियों को एनई आर की बैरक में क्वरांटाइन किया गया। वहीं बुधवार को 26 जीआरपी सिपाहियों को मोहनलालगंज के क्वारांटाइन सेंटर भेज दिया गया। मंगलवार को जीआरपी के एक सिपाही की कोरोना जांच करायी गयी थी।उसके साथ ही आरपीएफ जवान को भी जांच के लिए ले जाया गया था। आरपीएफ जवान को शनिवार से बुखार आ रहा था। गुरुवार को दोनों की ही रिपोर्ट पॉजीटिव आयी। जीआरपी ने अपना बैरक खाली करा दिया है। जबकि उसके बाकी जवान परिवार सहित अपने घरोंं में रहते हैं। पॉजीटिव आया आरपीएफ जवान भी परिवार सहित चारबाग में रेलवे की कालोनी में रहता है। आरपीएफ जवान की पत्नी काे भी खांसी व बुखार आ रहा है। अब शुक्रवार को वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त के साथ उनके आफिस में तैनात सभी जवानों व आरपीएफ पोस्ट के जवानों की जांच की जाएगी।

वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त अभिषेक कुमार ने बताया कि आरपीएफ जवान के कोरोना पॉजीटिव आने पर 48 घंटे के लिए चारबाग पोस्ट व 24 घंटे डिवीजन आफिस की सुरक्षा ब्रांच को बंद कर दिया गया है। दोनों जगह तैनात जवानों की कोरोना जांच शुक्रवार को होगी।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस