हरदोई, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में पुलिस और स्वॉट टीम की रविवार रात बाइक सवार एक बदमाश से मुठभेड़ हो गई। जवाबी कार्रवाई में बदमाश के सिर पर लगी। उसे आननफानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मुठभेड़ में एक दारोगा भी घायल हुए, जिनका इलाज कराया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक, मारे गए बदमाश पर हत्या, लूट आदि के करीब एक दर्जन मामले दर्ज हैं।   

ये है पूरा मामला 

एसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि सुरसा थाना पुलिस बिलग्राम मार्ग पर चेकिंग कर रही थी। इसी बीच स्वॉट टीम को सर्विलांस के जरिए एक बदमाश की लोकेशन भी मझिला पुल के आसपास ट्रेस हुई। स्वॉट टीम मझिला पुल पर पहुंची ही थी कि बाइक सवार बदमाश भी आ गया। पुलिस को देखकर बदमाश ने फायर कर दी। जबाव में सुरसा पुलिस और स्वॉट टीम ने भी फायर किए। घटना में बदमाश गंभीर रूप से घायल हुआ, जिसको अस्पताल ले जाया गया। इलाज के दौरान ही उसने दम तोड़ दिया। उधर, जवाबी कार्रवाई में स्वॉट टीम में शामिल लोनार थाना में तैनात उपनिरीक्षक राहुल सिंह सिसौदिया के हाथ में गोली लगी। उन्हें उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। 

कई मामलों में था मुख्य आरोपित, कुछ दिन पूर्व ही हुई थी जमानत 

एसपी ने बताया कि बदमाश के पास से मिले आधार से उसकी पहचान बदायूं जिले के विसौली थाना क्षेत्र के सिन्दोला निवासी अखिलेश यादव पुत्र जीतपाल के रूप में हुई। बदमाश के पास तीन मोबाइल, तमंचा एवं बाइक आदि मिली है। मारा गया बदमाश सुरसा क्षेत्र के मलिहामऊ निवासी एक महाविद्यालय के प्रबंधक और पूर्व ब्लाक प्रमुख संजय मिश्रा के हत्याकांड का मुख्य आरोपित भी था। कुछ दिन पूर्व ही जमानत पर छुटा था और जिले में किसी घटना को अंजाम देने के लिए आया था।

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप