लखनऊ, जेएनएन। CoronaVirus Lockdown 4 News: लॉकडाउन-4 में मिली छूट और लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ने की चुनौतियों के बीच 25 मई से विमान आसमान में उड़ते दिखेंगे तो एक जून से रेलवे स्टेशनों का सन्नाटा टूटेगा।  पूर्व की गलतियों से सबक लेते हुए सफर शुरू और खत्म होने तक सभी यात्री नियमों के सख्त पहरे में रहेंगे। एक-एक की थर्मल स्कैनिंग होगी।

कोरोना से संबंधित लक्षण मिले तो सरकार के बनाए क्वारांटाइन सेंटर में 14 दिन गुजारने होंगे। लक्षण न पाए जाने पर भी एहतियातन होम क्वारंटाइन रहना होगा। यात्री की ट्रैवल हिस्ट्री में किसी तरह का भटकाव न रहे, इसलिए एयरपोर्ट पर अधिकृत प्रीपेड टैक्सियां मौजूद रहेंगी। प्रीपेड बूथ पर सभी यात्रियों का पता और मोबाइल नंबर की डिटेल रहेगी। इसी तरह लखनऊ जंक्शन और चारबाग रेलवे स्टेशन पर भी सुरक्षा घेरा कड़ा रहेगा। ट्रेनों से उतरने वाले यात्री अपने निजी वाहन और अधिकृत टैक्सी से ही रवाना होंगे।

कहां कितने विमान जाएंगे

लखनऊ एयरपोर्ट से 27 विमान सेवाएं 25 मई से शुरू होंगी। नौ विमान लखनऊ से दिल्ली, छह विमान मुंबई, पांच विमान अहमदाबाद, तीन बेंगलुरु, दो हैदराबाद और इतने ही कोलकाता के लिए रवाना होंगे। इस तरह 20 विमान हाई रिस्क राज्यों को जाएंगे। जबकि इतने ही विमान हाई रिस्क राज्यों से लखनऊ आएंगे।

आरोग्य सेतु एप जरूरी  

लखनऊ से प्रस्थान करने पर आरोग्य सेतु एप में स्वस्थ और थर्मल स्कैनिंग में सामान्य पाए जाने वाले यात्री ही सफर के हकदार होंगे।

ट्रेन पकड़नी हो तो पहुंचें 90 मिनट पहले

एक जून से लखनऊ जंक्शन से पुष्पक एक्सप्रेस स्पेशल और लखनऊ मेल स्पेशल ट्रेनें चलेंगी। चारबाग से गोमती एक्सप्रेस का संचालन होगा। डीआरएम डॉ. मोनिका अग्निहोत्री ने बताया कि यात्रियों को ट्रेन छूटने के 90 मिनट पहले स्टेशन आना होगा। यदि एक पीएनआर पर कोई टिकट कंफर्म नहीं हुआ है तो उस पर केवल वही यात्री सफर करेंगे, जिनको सीट नंबर आवंटित है।

ये ट्रेनें ऐसे चलेंगी

  • 17 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें लखनऊ होकर गुजरेंगी।
  • 04 हजार यात्री लखनऊ से करेंगे प्रतिदिन यात्रा की शुरुआत।
  • 4200 यात्री प्रतिदिन बाहर से पहुंचेंगे लखनऊ।
  • 01 ही गेट से मिलेगा यात्रियों को स्टेशन पर प्रवेश।

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस