बाराबंकी [राघवेंद्र मिश्र]। अब परिषदीय विद्यालयों के बच्चे घर बैठे ही खिड़की ई-लाइब्रेरी का लाभ उठा पाएंगे। बेसिक शिक्षा विभाग ने टाटा ट्रस्ट फाउंडेशन के पराग इनीशिएटिव के सहयोग से ई-मैगजीन लांच की है। शिक्षकों को स्मार्ट फोन पर ई-मैगजीन भेजी जाएगी। इसमें बच्चे ज्ञानवर्धन कहानियां सुन सकेंगे। जिन अभिभावकों के पास स्मार्ट फोन होगा, उन्हें भी मैगजीन दी जाएगी। इस ई-मैगजीन में छोटी-छोटी रोचक कहानियां हैं।

कोरोना संक्रमण की वजह से विद्यालय बंद चल रहे हैं और छात्र घर पर बैठकर ही पढ़ाई कर रहे हैं। विभिन्न डिजिटल माध्यम से बच्चों को पढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। इसी क्रम में बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय विद्यालयों के छात्रों को ई-लाइब्रेरी की सुविधा दी जा रही है। विभाग की ओर से शिक्षकों को ई-मैगजीन का पहला अंक प्रकाशित कर मोबाइल पर उपलब्ध करा दिया है। इसका नाम लाइब्रेरी खिड़की रखा गया है। बच्चों में पढ़ने और सीखने की प्रक्रिया को जागृत करने के उद्देश्य से यह पहल की गई है। ई-मैगजीन सप्ताह में दो बार मंगलवार और शुक्रवार को प्रकाशित की जाएगी। जो शिक्षकों को उनके मोबाइल पर उपलब्ध करा दी जाएगी। शिक्षक मोबाइल के माध्यम से छात्रों को उपलब्ध करा देंगे।

क्या है खिड़की लाइब्रेरी ई-मैगजीन : आदर्श प्राथमिक विद्यालय सिरकौली रामनगर के प्रधानाध्यापक विवेक मिश्रा ने बताया कि आयु वर्ग के हिसाब से पाठ्य सामग्री ई मैगजीन आम किताबों से काफी हटकर है। यह बच्चों को पढ़ने के लिए उत्सुक भी करेगी। छह वर्ष की आयु से ज्यादा के बच्चों के लिए अलग-अलग कहानियां दी गई हैं। कहानियों को पढ़ने का तरीका बहुत रोचक है। एक कार्टून और कुछ लाइनों के माध्यम से कहानी का संदर्भ दिया गया है। उस पर क्लिक करते ही पूरी कहानी खुल जाती है। कुछ कहानियों को कार्टूननुमा पिक्चर के माध्यम से पढ़ सकते हैं तो कुछ कहानियों में शब्दों के साथ ऑडियो का भी इस्तेमाल किया गया है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021