लखनऊ [मोहम्मद हैदर]। जीवन के तमाम पहलू में मददगार बनी तकनीक अब इबादत में भी सहूलियत दे रही है। ‘डिजिटल अजान’ रमजान में रोजेदारों का ध्यान रख रही है तो वहीं स्पीकर कुरआन, रीड पेन और डिजिटल तस्बीह भी इबादत आसान कर रही है।

नक्खास और अकबरी गेट बाजार में स्थित दुकानों में रमजान शुरू होने के साथ इनकी मांग बढ़ गई है। रिमोट से बजने वाले स्पीकर कुरआन और एलईडी स्पीकर कुरआन लैंप राजेदारों को लुभा रहे हैं। कुरआन रीड पेन और ई-कुरआन से लोग कुरआन की तिलावत सुनने के साथ उसका हिंदी तजरुमा सुनते भी मिल जा रहे हैं। इसी तरह अजान क्लॉक, डिजिटल तस्बीह व सजदगाह भी इबादत को आसान बना रहे हैं।

 

कुरआन रीड पेन

इन दिनों ई-कुरआन और कुरआन रीड पेन की जबरदस्त मांग है। ई-कुरआन कई भाषाओं में उपलब्ध है। कुरआन रीड पेन उर्दू, हिंदी, अंग्रेजी सहित करीब 16 भाषाओं में मिल रहा है। इसकी खासियत यह है कि कुरआन के पेज पर पेन रखते ही पेन कुरआन की आयत को रीड करता है और फिर स्पीकर से वह आयत सुनाई देती है। बाजार में इसकी कीमत करीब 6000 रुपये है।

डिजिटल तस्बीह

नमाज के दौरान अक्सर शक होता है कि सजदे पूरे हुए या नहीं, तस्बीह कम तो नहीं पढ़ी। डिजिटल तस्बीह को आप अपनी अंगुली या कलाई पर बांध सकते हैं। तस्बीह पढ़ने के साथ-साथ बटन दबाना होगा। घड़ी नुमा बनी इस तस्बीह की स्क्रीन पर यह पता चलेगा कि आपने कितनी तस्बीह पढ़ी है। इसी तरह डिजिटल सजदगाह पर सजदा करने पर सजदे की संख्या का पता चलेगा।

अजान क्लॉक

अल हरमैन की अजान क्लॉक में केवल पिन कोड फीड करना है। इसके बाद घड़ी न समय के साथ शहर के हिसाब से पांचों टाइम की अजान का वक्त भी बताएगी। घड़ी में फज्र, जोहर, अस्र, मगरिब व ईशा की नमाज का सही समय दिखेगा। सप्ताह के अलग-अलग दिन के मुताबिक यह बदलता रहेगा। घड़ी में हिजरी तारीख भी दिखेगी। यह घड़ी करीब 4200 रुपये में उपलब्ध है।

 

स्पीकर रिमोट कुरआन

बाजार में नया एलईडी स्पीकर कुरआन लैंप आया है। स्पीकर कुरआन रोजेदारों की पसंद बन चुका है। यह रिमोट से ऑपरेट होता है। रिमोट के जरिए न केवल एलईडी की लाइट को कम-ज्यादा कर सकते हैं, बल्कि कुरआन की आयत के साथ नात और मनकबत भी सुन सकते हैं। इसमें उर्दू, अंग्रेजी व हिंदी के साथ कई भाषा में कुरआन अपलोड है। इसकी कीमत करीब 5000 रुपये है।

क्या कहते हैं मौलाना ?

ऐशबाग ईदगाह इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली के मुताबिक, इबादत में गैजेट का इस्तेमाल करने पर कोई मनाही नहीं है। गैजेट खरीदते समय यह जरूर देख लें कि जो आयत दी गई है वह मुकम्मल है और उसका तलफ्फुज (उच्चारण) सही है। सब दुरुस्त होने के बाद ही गैजेट का इस्तेमाल करें।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप