लखनऊ, जेएनएन। मुश्किल समय में अब तक 100 नंबर डायल करने पर पुलिस उपलब्ध होती थी, लेकिन अब यह सहायता 112 नंबर डायल करने पर मिलेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 26 अक्टूबर को इसकी शुरुआत करेंगे। जब तक प्रदेश के नागरिक 112 नंबर के अभ्यस्त नहीं हो जाते, तब तक 100 नंबर डायल करने पर भी यह सहूलियत मिलती रहेगी।

डीजीपी ओपी सिंह ने रविवार को प्रदेशभर के एसएसपी, एसपी को पत्र भेजकर इस बदलाव की जानकारी दी है। ओपी सिंह ने बताया कि पुलिस आपातकालीन हेल्पलाइन 100 नंबर को 112 नंबर में परिवर्तित किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि 112 नंबर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कई देशों में आपातकालीन हेल्पलाइन के रूप में पहले से ही स्थापित है। केंद्र सरकार ने भी 112 नंबर को पूरे देश में हेल्पलाइन के रूप में स्थापित करने का फैसला किया है। इसे चरणवार हर राज्य में स्थापित किया जा रहा है।

अब प्रदेश में नागरिकों द्वारा 26 अक्टूबर से 112 नंबर डायल कर पुलिस, अग्निशमन दल, एंबुलेंस, जीवन रक्षक एजेंसियों जैसे राज्य आपदा मोचक दल की सेवा प्राप्त की जा सकेगी। ओपी सिंह का कहना है कि चूंकि लंबे समय से प्रदेश के नागरिक 100 नंबर डायल करते आ रहे हैं इसलिए जब तक वह 112 नंबर के अभ्यस्त नहीं हो जाते तब तक 100 नंबर पर भी सहायता मिलती रहेगी। डीजीपी ने एसएसपी, एसपी को जिलों में इसके प्रचार-प्रसार की जिम्मेदारी दी है। 

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप