अयोध्या [रमाशरण अवस्थी]। रामलला के भव्य मंदिर निर्माण से पहले पूरी दुनिया उनकी महिमा से घर बैठे रूबरू हो पाएगी। उन प्रसंगों को जान पाएंगे, जो अभी तक किताबों के पन्नों में कैद हैं। इसके लिए श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट जल्द ही वेबसाइट लांच करेगा, जिसपर श्रीराम के बालस्वरूप समेत पूरा प्रसंग और मंदिर के बारे में सारी जानकारी उपलब्ध रहेगी। ट्रस्ट की कोशिश है कि जब तक मंदिर बनकर तैयार हो, लोग अयोध्या के बारे में ज्यादा से ज्यादा जान सकें।

पिछले साल नौ नवंबर को रामलला के हक में आए सुप्रीम फैसले के बाद से अयोध्या में तैयारियां जोर-शोर से हैं। ट्रस्ट गठन के बाद मंदिर निर्माण की तैयारियों ने तेजी पकड़ ली है। चूंकि, जमाना इंटरनेट का है इसलिए बदले माहौल में भगवान श्रीराम की भी 'वर्चुअल दुनिया' में दमदार उपस्थिति रहेगी। ऐसा नहीं कि उनसे जुड़ी  जानकारी देने के लिए स्रोत नहीं हैं। कई वेबसाइट संचालित हैं मगर, रामलला के तमाम प्रसंगों से अछूती हैं। इसी को देखते हुए ट्रस्ट ने फौरी तौर पर वेबसाइट विकसित करने की जरूरत महसूस की है।

ट्रस्ट से जुड़े लोगों का कहना है कि यहां मंदिर निर्माण की तैयारी और उसका स्वरूप लगातार अपडेट दिखेगा। साथ-साथ रामलला की ऐतिहासिकता, पौराणिकता और दार्शनिक-आध्यात्मिक पक्षों का भी संयोजन रहेगा। पर्यटकों एवं तीर्थयात्रियों के हिसाब से आने-जाने के साधन, ठहरने के लिए होटल-धर्मशालाका ब्योरा रहेगा। मंदिर निर्माण के लिए पूरे देश से बड़ी मात्रा में अपेक्षित दान को देखते हुए ट्रस्ट के बैंक एकाउंट और इसमें किस तरह, किन-किन तरीकों से दानदाता खाते में धन स्थानांतरित कर सकते हैं, यह जानकारी भी वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगी। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस