लखनऊ, जेएनएन। Strict Night Curfew in UP: उत्तर प्रदेश में बेकाबू हो रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए 10 जिलों में नाइट कर्फ्यू सख्त कर दिया गया है। ये वो 10 जिले हैं जो कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। इन जिलों में नाइट कर्फ्यू का समय रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक कर दिया गया है। ये फैसला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कोविड संक्रमण के लिए की गई एक वर्चुअल मीटिंग में लिया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल मीटिंग के दौरान कोरोना संक्रमण से बुरी तरह जूझ रहे जिलों में नाइट कर्फ्यू के लिए सख्त मानक भी तय किये हैं। नए मानकों के अनुसार अब जिन जिलों में 2000 से ज्यादा कोरोना के एक्टिव केस होंगे, वहां सख्त नाइट कर्फ्यू लगा दिया जाएगा।

यूपी में 24 घंटे में 20,510 नए कोरोना मरीज

उत्तर प्रदेश में कोरोना की रफ्तार लगातार तेज हो रही है। गुरुवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कुल 20,510 नए कोरोना मरीज मिले हैं। वहीं इन 24 घंटों में मात्र 4517 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए हैं। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में कुल एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 1,11,835 पहुंच चुकी है। कोरोना की इस बेकाबू रफ्तार को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में सख्त नाइट कर्फ्यू लगाने के निर्देश दिए हैं। इससे पहले मंगलवार सुबह जारी की गई पिछले 24 घंटों की रिपोर्ट में कुल 18021 नए मरीज मिले थे। सोमवार सुबह की रिपोर्ट में नए मरीजों की संख्या 13685 थी। अप्रैल महीने के शुरूआती 12 दिनों में ही कोरोना संक्रमण यूपी में सात गुना तेजी से बढ़ा है।

फिलहाल लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, मेरठ, गोरखपुर, झांसी, बरेली, बलिया में एक्टिव कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 2000 से ज्यादा है। लिहाजा इन सभी जिलों में आज रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक सख्त नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है।

मुख्यमंत्री समेत उनका स्टॉफ भी कोरोना की चपेट में

मालूम हो कि बुधवार सुबह ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कोरोना पॉजिटिव होने की भी रिपोर्ट आयी है। मुख्यमंत्री कार्यालय के कई वरिष्ठ अधिकारी मंगलवार को ही कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की कोरोना रिपोर्ट भी बुधवार को पॉजिटिव आयी है। उत्तर प्रदेश में कोरोना की रफ्तार लगातार तेज हो रही है। आलम ये है कि राजधानी लखनऊ में भी लोगों को कोरोना की जांच कराने से लेकर गंभीर संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती होने तक में समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

नाइट कर्फ्यू में सख्ती बरतने के निर्देश

खुद कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना संकट पर नजर बनाए हुए हैं। मंगलवार को उनके कार्यालय के अधिकारियों के पॉजिटिव मिलने के बाद से ही उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया था। हालांकि इसके बाद भी वह कोरोना संकट को लेकर अधिकारियों संग लगातार वर्चुअल मीटिंग कर रहे हैं। बुधवार की मीटिंग में सीएम ने कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 जिलों में सख्ती से नाइट कर्फ्यू का पालन कराने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने स्पष्ट किया कि इस दौरान केवल उन्हीं लोगों को घर से बाहर निकलने की अनुमति होगी, जिन्हें जिला प्रशासन द्वारा मंजूरी प्रदान की गई है। इसके अलावा आपात स्थिति में ही लोग घर से बाहर निकल सकेंगे।

15 मई तक सभी स्कूल बंद, बोर्ड परीक्षाएं भी टलीं

सख्त नाइट कर्फ्यू लागू करने के साथ ही मुख्यमंत्री ने पूरे राज्य में 15 मई तक स्कूलों को बंद रखने के आदेश दिए हैं। बुधवार को यूपी सरकार ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं भी स्थगित कर दी हैं। इसके पहले भी पंचायत चुनाव की वजह से बोर्ड परीक्षाओं की तिथि आगे बढ़ा दी गई थी। 8 मई से उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UP Board) की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं शुरू होनी थीं। अब कोरोना के बड़े खतरे को देखते हुए, बोर्ड परीक्षाएं एक बार फिर टाल दी गई हैं। अब शासन 15 मई के बाद कोरोना की स्थिति का आंकलन कर बोर्ड परीक्षा की संशोधित निर्धारित करने पर विचार करेगा।

यह भी पढ़ें :-

Coronavirus Curfew in UP: 25 जिलों में हालात काबू करने को अलग-अलग समय पर कर्फ्यू, देखें पूरी लिस्ट

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021