लखनऊ, जेएनएन। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने लखीमपुर खीरी में एक दलित बालिका के साथ दुष्कर्म और हत्या के मामले में गुरुवार को उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस महानिदेशक को नोटिस भेजा है। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मीडिया रिपोर्ट के आधार पर इस घटना का संज्ञान लिया है। एनएचआरसी ने कहा कि जाहिरा तौर पर आपराधिक इरादे वाले लोगों में कानून के प्रति कोई डर और सम्मान नहीं है तथा सीधी-सादी महिलाओं, विशेष रूप से समाज के कमजोर वर्गों से संबंधित महिलाओं को आसानी से निशाना बनाया जा रहा है।  वहीं, इस घटना में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि अपराधियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत भी कार्रवाई की जाए।

लखीमपुर खीरी में 17 वर्षीय बालिका का शव उसके गांव के बाहर मिला था। वह मंगलवार को छात्रवृत्ति का आवेदन करने के लिए घर से निकली थी। उसके साथ दुष्कर्म किया गया और फिर हत्या कर दी गई। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मीडिया रिपोर्ट के आधार पर इस घटना का संज्ञान लिया है। पीड़ित के घर में इंटरनेट की सुविधा नहीं थी, इस कारण वह बाहर गई थी। आयोग ने कहा कि वह अपने परिवार में पढ़ाई करने वाली पहली सदस्य थी और अपने परिवार को गरीबी से बाहर निकालने के लिए सरकारी नौकरी करने की आकांक्षा रखती थी।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को नोटिस भेजकर चार सप्ताह में विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा है। आयोग ने रिपोर्ट में वैधानिक राहत की स्थिति और पीड़ित के परिवार को राज्य सरकार द्वारा प्रदान की गई अन्य सहायता का उल्लेख करने को भी कहा है। आयोग ने कहा कि यह राज्य का कर्तव्य है कि वह अपने नागरिकों के लिए भयमुक्त माहौल बनाए, ताकि लोग सम्मान और गरिमा के साथ जी सकें।

बता दें कि लखीमपुर में कक्षा 12 की छात्रा का शव मंगलवार (25 अगस्त) सुबह उसके गांव के बाहर तालाब के किनारे पड़ा मिला। उसका गला धारदार हथियार से रेता मिला था। हत्या से पहले उसके साथ दुष्कर्म भी हुआ है, जिसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुई है। वह सोमवार को छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने गई थी। दोपहर एक बजे तक छात्रा घर नहीं लौटी तो पिता ने उसके मोबाइल फोन पर कॉल लगाई। फोन नहीं उठा तो चिंतित परिवारीजन छात्रा की तलाश में जुट गए, इसके साथ ही पुलिस को सूचना दी। मंगलवार सुबह घर से एक किलोमीटर दूर तालाब के किनारे छात्रा का क्षत-विक्षत शव पड़ा मिला।

आरोपितों पर लगेगा एनएसए : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखीमपुर खीरी जिले में एक छात्रा की दुराचार के बाद हत्या की घटना में अपराधियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि अपराधियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत भी कार्रवाई की जाए। सीएम योगी ने छात्रा के शोक संतप्त परिवारीजन के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रकरण की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कराकर अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021