लखनऊ, जागरण संवाददाता। रायबरेली रोड स्थित आवास विकास परिषद की वृंदावन योजना के बाद परिषद गोसाईगंज स्थित नई जेल के पास अपनी नई टाउनशिप लाने जा रहा है। 214 एकड़ में यह टाउनशिप विकसित होगी। यहां 14 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर में प्लाट मिल सकेंगे, हानलांकि जमीनों के दर को लेकर अभी पूरी तरह से निर्णय नहीं हुआ है।। किसानों को इस प्रोजेक्ट में जमीन के मामले में साझीदार बनाए जाने की योजना थी लेकिन 60 फीसद किसानों से अपनी जमीन देने के लिए अनुबंध भी कर लिया था, कुछ किसान टालमटोल कर रहे थे। अब जमीन को अधिगृहित करके मुआवजा दिया जाएगा। वहीं योजना को जनवरी 2022 में लांच करने की तैयारी है।

नई जेल रोड भूमि विकास एवं गृहस्थान योजना मोहनालालगंज लखनऊ में बसाने की तैयारी है। नई जेल के पास मोहारी कला, सिठौली कला व सिठौली खुर्द गांव की जमीन चिह्नित की गई है। इन गांवों के करीब 91 किसानों की जमीन ली जानी है। लैंड पूलिंग योजना के तहत 80 फीसद किसानों की सहमति जरूरी है। अभी 60फीसद किसानों ने सहमति दे दी है। इनसे अनुबंध भी हो गये हैं। परिषद के अफसरों के मुताबिक 146 एकड़ जमीन का अनुबंध किसानों से हो चुका है। ग्राम सभा की जमीन मिलाकर प्रस्तावित एरिया 265 एकड़ है। इसमें से 25 फीसदी जमीन किसानों को विकसित करके दी जाएगी। जो किसान सहमति नहीं देंगे, उनसे नियमानुसार अधिगृहण की कार्रवाई की जाएगी।

योजना से जमीनों के दामों में आने लगा उछाल: जहां आवास विकास परिषद अपनी योजना ला रहा है, वहां किसानों ने पहले ही सौदा प्रापर्टी डीलरों से कर रखा है। कई प्रापर्टी डीलर वहां पहले से प्लाटिंग कर रहे हैं। आवास विकास की टाउन शिप का नाम आते ही जमीन के दाम में तीन से पांच सौ रुपये प्रति वर्ग फिट उछाल आ गया है। यहां एक दर्जन प्रापर्टी डीलर पांच से पंद्रह बीघे में प्लाटिंग कर रहे हैं। वहीं अफसरों के मुताबिक जो जमीन उनके याेजना में आएगी, उसे अधिगृहित कर लिया जाएगा।

Edited By: Rafiya Naz