लखनऊ, जागरण संवाददाता। ढाक की धुन और लोबान के साथ धुनुचित आरती करते श्रद्धालु। कुछ ऐसी नजारा सोमवार को दुर्गा पूजा पंडालों में संधि पूजा में नजर आया। बंगाली समाज की इस खास पूजा में समाज के लोगों की मौजूदगी ने पंडालों की राैनक बढ़ा दी। शहीद पथ के तुल्सियानी गोल्फ व्यू अपार्टमेंट परिसर में डा. सुषमा मिश्रा के संयोजन में पूजन किया गया और शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम हुआ।

बादशाह नगर दुर्गा पूजा कमेटी की प्रिया सिन्हा ने बताया कि दोपहर 3:36 बजे से पूजा शुरू हुई और शाम 4:24 बजे तक चली। पूजा में 108 दीपक, 108 कमल पुष्प, 108 गुड़हल के पुष्प और 108 बेलपत्रों के साथ ही धुनुचि आरती हुई। इसके बाद भोग का वितरण किया गया। सुबह ढाक की धुन पर धुनुचि आरती के साथ आलमबाग के सिंधी स्कूल में सुबह विशेष पाठ किया गया तो कानपुर रोड एलडीए कालोनी के खजाना में बी घोष के संयोजन में पूजा हुई।

108 दीपकों के साथ हुई संधि पूजा

ट्रांसगोमती नगर दुर्गा पूजा एवं दशहरा कमेटी के संयोजक तुहिन बनर्जी ने बताया कि अलीगंज के चंद्रशेखर पार्क के सामने 108 दीपकों के साथ संधि पूजा हुई और प्रसाद वितरण किया गया। गोमती नगर के विकल्प खंड स्थित शिव मंदिर में नीरा सिन्हा और निराला नगर के श्रीराम कृष्ण मठ में अध्यक्ष स्वामी मुक्तिनाथा नंद के सानिध्य में मां का आह्वान किया गया।

काली बड़ी मंदिर में नहीं होगी ढाक प्रतियोगिता

लालबाग के घसियारी मंडी स्थित काली बाड़ी मंदिर परिसर में दुर्गा पूजा समाप्ति के बाद होने वाली ढाक प्रतियोगिता कोरोना काल में स्थगित कर दी गई थी। इस बार भी प्रतियोगिता नहीं होगी। काली मंदिर के अध्यक्ष गौतम भट्टाचार्य ने बताया कि ढाकियों की संख्या कम है और समितियों की ओर से भी कोई जानकारी नहीं दी जा रही है। इस कारण यह प्रतियोगिता इस बार भी स्थगित कर दी गई है।

कोलकाता से आए ढाकियों के उत्साह के लिए प्रतियोगिता होती थी और उन्हें पुरस्कृत भी किया जाता था। माडल हाउस दुर्गा पूजा पंडाल कोन केवल इस बार श्रीराम मंदिर के माडल पर बनाया गया है बल्कि यहां महिला ढाकिया आई हैं।

Edited By: Vrinda Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट