लखनऊ, (अनुराग गुप्‍ता )। मौसम में इन दिनों तेजी से बदलाव हो रहा है। दिन और रात के मौसम में भी जबरदस्‍त अंतर देखा जा सकता है। गर्मी के बाद ऐसे मौसम लोगों को काफी राहत देता है, लेकिन इस बदलते मौसम में बीमारियों का खतरा भी कई गुना बढ़ जाता है। ऐसे में खुद को बीमारियों से बचाने के लिए सावधानी बरतना बेहद आवश्यक है।

बीमारियों से बचने के लिए लोग ऐलोपैथिक दवाओं का बहुत सेवन करते हैं। एलौपैथिक दवाएं शरीर के दर्द व बुखार को कम तो कर देती हैं, लेकिन सर्दी-जुकाम पर इनका खास असर नहीं पडता है। इसलिए सर्दी लगने पर जरूरी है कि आप प्राकृतिक इलाज अपनाएं। इसके लिए आप सूप, सौंठयुक्त चाय, अदरक-लहसुन, प्राकृतिक विटामिन और जड़ी-बूटियों का सेवन करें, इससे बहुत आराम मिलता है।

सर्दी में बहुत लाभदायक है सूप

अस्थमा के मरीजों के लिए सर्दी में सूप बहुत लाभदायक होते है। इसकी भाप लेने से तो आराम मिलता ही है साथ में बुखार होने पर भी सूप बेहद फायदेमंद होते हैं। यह भूख की कमी को भी दूर करते हैं।

औषधियों वाली चाय

औषधि वाली चाय गर्म होती है। इसके सेवन से गले की खराश और दर्द में आराम मिलता है। दालचीनी, कालीमिर्च, जायफल, लौंग, अदरक या तुलसी की पत्ती डालकर बनाई गई चाय सर्दी-जुकाम में लाभकारी होती है। इनसे दर्द में आराम मिलने के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

विटामिन सी भी देता है आराम

सर्दी या अन्य मौसमी समस्या में विटामिन सी भी बहुत लाभ पहुंचाता है। बता दें कि विटामिन-सी की सौ मिलीग्राम की खुराक रोज लेने से सर्दी में आराम मिलता है। प्राकृतिक रूप से विटामिन सी आंवले, नीबू, संतरा आदि फलों में पाया जाता है।

फल जरूर खाएं

मौसमी बीमारियों में फलों का सेवन जरूर करना चाहिए। यह आपको आवश्यक पोषण देकर, कमजोरी दूर करते हैं और रोग प्रतिरोधक में भी इजाफा करते हैं। ये शरीर की कार्यक्षमता बढ़ाने में मदद करते है।

सूखे मेवे का सेवन करें

कई बार बीमारी होने पर कुछ खाने का मन नहीं होता। ऐसे में आप चाहें तो कुछ मात्रा में सूखे मेवों का सेवन कर सकते हैं। यह भी आपको आंतरिक मजबूती प्रदान करता है। इससे आपको कमजोरी महसूस नहीं होगी और आपकी भूख भी मिट जाएगी।

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप