लखनऊ, जेएनएन। ठाकुरगंज के बाबा हजारा बाग गढ़ी पीर खां में 15 सितंबर को छह साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या के आरोपित के खिलाफ शनिवार को राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (एनएसए) के तहत कार्रवाई की। उधर, फॉरेंसिक रिपोर्ट में मासूम से दुराचार की पुष्टि हो गई है।

एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी के मुताबिक छह दिन के भीतर आरोपित बबलू के खिलाफ दुष्कर्म व हत्या के मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी गई थी। विधि विज्ञान प्रयोगशाला में आरोपित और मासूम के कपड़े, ब्लड व अन्य नमूने भेजे गए थे। पैरवी करते हुए फॉरेंसिक विभाग से इसकी विस्तृत रिपोर्ट मंगा ली गई है, जिसमें आरोपित के हैवानियत की पुष्टि हुई है। पुलिस ने सभी रिपोर्ट न्यायालय में भी प्रेषित कर दिए हैं।

यह है मामला 

छह साल की बच्ची की दुष्कर्म के बाद गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। मासूम लहूलुहान अवस्था में मुंह बोले मामा के घर से बरामद की गई थी। छानबीन के दौरान पुलिस ने आरोपित बबलू को गिरफ्तार कर लिया था। बबलू बहाने से मासूम को अपने घर लेकर गया था, जहां उसने हैवानियत की हदें पार कर दी थीं।

यह भी पढ़ें:  शैतान बना मुंह बोला मामा, दुष्कर्म कर रेता मासूम का गला; नाराज लोगों ने किया हंगामा

यह भी पढ़ें:   ठाकुरगंज मर्डरकेस: हत्‍या से पहले दबाया था गला, चाकू और हथौड़े से किए थे कई वार

शांति व्यवस्था हुई थी प्रभावित

इस घटना ने पुराने लखनऊ में विषम स्थिति उत्पन्न कर दी थी। कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित किया था और शव दफन हो सका था। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने पैरवी करते हुए आरोपित के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई की है।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप