रायबरेली, जागरण संवाददाता। सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने यहां स्पष्ट किया कि आगामी विधानसभा चुनाव में सपा, कांग्रेस का समझौता नहीं होगा। पार्टी मजबूती से चुनाव लड़ेगी और जनता का अपार समर्थन मिलेगा। भाजपा ने चुनाव के दौरान जो वादे किए थे, डबल इंजन की सरकार में वे पूरे नहीं हुए। इस कारण किसान और नवजवान निराश हैं। बुधवार को किसान नौजवान पटेल यात्रा लेकर पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष सिविल लाइंस स्थित एक होटल में पत्रकारों से मुखातिब थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश का किसान बदहाल है। बीजेपी ने जो वादे किए थे, वे पूरे नहीं हुए। इस वादाखिलाफी से किसान आक्रोश में हैं। विधानसभा चुनाव सपा अपने बूते लड़ेगी, कांग्रेस से समझौता नहीं होगा। भाजपा सरकार के खिलाफ जनता में रोष है। 

पटेल ने कहा कि यात्रा 29 अगस्त को सीतापुर से शुरू की थी। यहां पहुंचने पर किसानों, नौजवानों ने स्वागत कर मनोबल बढ़ाया। उन्होंने कहा कि नौजवान परेशान हैं, उन्हें रोजगार नहीं मिल रहा। दावा दो करोड़ रोजगार देने का था, इसके सापेक्ष साढ़े चार लाख लोगों को मिला। इसमें भी संविदाकर्मी व मनरेगा मजदूर भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने किसानों से जो वादा किया कि फसल का लाभकारी मूल्य देंगे, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करेंगे। आय दोगुना करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। किसानों को लाभकारी मूल्य तो छोड़िए उन्हें लागत मूल्य भी नहीं मिल रहा है। सरकार ने गेहूं, धान का समर्थन मूल्य घोषित किया, लेकिन प्रदेश के क्रय केंद्रों में धान किसानों से न खरीद करके बिचौलियों से खरीदा गया। 

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि किसान अपनी फसलों के मूल्य की मांग करता है तो उन पर लाठीचार्ज किया जाता है। दिल्ली में किसान एक साल से आंदोलन कर रहे कि हमें एमएसपी की गारंटी दे दो, लेकिन किसानों से बात नहीं की जा रही है। किसानों में निराशा और भारी आक्रोश है। उन्होंने कहा कि सरकार बनी तो हम नए रोजगार का सृजन करेंगे। रोजगार नहीं दे पाए तो पूर्व की भांति बेरोजगारी भत्ता देंगे। किसानों को सस्ती बिजली देंगे।

Edited By: Vikas Mishra