लखनऊ, जेएनएन।  शहर में डेंगू का प्रकोप थम नहीं रहा है। शनिवार को दर्जनभर से अधिक मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई। फॉगिंग और अन्य व्यवस्था कराने में नाकाम रहे नगर निगम और मलेरिया विभाग के अफसर मच्छरों को मारने के लिए शनिवार को जेसीबी लेकर निकले।

शहर से गांव तक डेंगू फैला हुआ है। नगर निगम के अधिकारी शहर में साफ सफाई की व्‍यवस्‍था करवाने में नाकाम हो रहे हैं। जिसके बाद टीम जेसीबी लेकर शहर के पानी के टैंक को तोड़ने के लिए निकल पड़ी। स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुनील रावत और जिला मलेरिया विभाग की टीम ने तर्क दिया कि टैंकों में जमा हो रहे पानी से मच्‍छर पनप रहे हैं। इसलिए टैंकर तोड़ने जरूरी हैं। कार्रवाई के  दौरान कई मुहल्लों में भवन निर्माण के लिए बनाए गए टैंकों को तोड़ा गया। टीम ने इन टैंकों से मच्छरों के पनपने का खतरा बताया। 

लार्वा मिलने पर 32 को नोटिस : सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों और आशा बहुओं को डेंगू के प्रति जागरूक करने के निर्देश दिए। साथ ही, 32 घरों और स्थानों पर लार्वा पाए जाने पर नोटिस जारी किया गया। 

यहां मिले डेंगू के मरीज : सीएमओ की टीम ने 14 मरीजों में डेंगू की पुष्टि की है। यह मरीज अमौसी, निशातगंज, बंगला बाजार, रुचि खंड, मलिहाबाद, इंदिरा नगर, बटलर पैलेस, तेलीबाग, उतरेटिया और दिलकुशा निवासी हैं। वहीं, रायबरेली रोड की वृंदावन कॉलोनी के सेक्टर- 6 में आधा दर्जन लोगों को डेंगू ने अपनी चपेट में ले लिया है। यहां की निधि द्विवेदी (22), सुमन वर्मा (53), भोला यादव (60), पूरन लाल (52), गार्गी सिंह (43) व आध्या (14) में डेंगू की पुष्टि हुई है। ऐसे में शहर में रोगियों की संख्या बढ़कर 215 पर पहुंच गई है।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप