लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में टिकटों के बंटवारे को लेकर समाजवादी पार्टी में जारी विवादों के चलते समाजवादी पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव गुरुवार को अचानक लखनऊ स्थित पार्टी मुख्यालय पहुंच गए। वहां सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से करीब तीन घंटे मुलाकात की और पंचायत चुनाव में ढिलाई नहीं बरतने की हिदायत भी दी।

समाजवादी पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव आम तौर पर दोपहर करीब 12 बजे कार्यालय पहुंचते हैं। गुरुवार को प्रात: दस बजे मुलायम को आता देखकर मुख्यालय में हलचल बढ़ गई। इसकी जानकारी मिलते ही करीब आधे घंटे बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी कार्यालय पहुंच गए। अखिलेश और मुलायम के बीच चली बातचीत के दौरान किसी कार्यकर्ता को वहां नहीं जाने दिया गया। हालांकि, वार्ता खत्म होने से कुछ समय पहले पूर्व मंत्री बलराम यादव कक्ष में पहुंचे, लेकिन मुलायम सिंह जल्द ही बाहर आ गए। बाहर निकलकर मुलायम कार्यकर्ताओं का अभिवादन स्वीकार करते हुए कार्यालय से चले गए।

सूत्रों का कहना है कि मुलायम सिंह कई जिला पंचायतों में टिकट वितरण को लेकर जारी विवादों के बारे में जानकारी लेने के लिए कार्यालय पहुंचे थे। माना जा रहा है कि मैनपुरी में भतीजी संध्या यादव का भाजपा उम्मीदवार के रूप में चुनाव मैदान में उतरना भी सपाइयों को अखर रहा है। मुलायम सिंह ने पंचायत चुनाव की महत्ता बताते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी की असल ताकत गांवों में दखल होना है। विधानसभा चुनाव की तैयारियां भी पंचायत चुनावों के नतीजों से प्रभावित होंगी। मुलायम-अखिलेश की मुलाकात के बारे में अधिकृत तौर पर पार्टी की ओर से कोई बयान जारी नहीं किया गया। सपा नेताओं का कहना है कि दोनों की मुलाकात कोई नई बात नहीं है।

निर्वाचन आयुक्त को सौंपा ज्ञापन : समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को राज्य निर्वाचन आयुक्त कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन सौंपा। विधान परिषद सदस्य रामवृक्ष सिंह यादव के नेतृत्व में केके श्रीवास्तव, डा. हरिशचंद्र व मेहताब सिंह ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में हो रही अनियमितताओं की शिकायत दर्ज कराई।

शालीन बने युवजन सभा प्रदेश सचिव : समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रायबरेली के ग्राम टीसा खानपुर निवासी शैलेंद्र प्रताप शालीन को समाजवादी युवजन सभा का प्रदेश सचिव नामित किया है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021