लखनऊ (जेएनएन)। समाजवादी पार्टी ने अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी। पार्टी ने सिर्फ नूरपुर उपचुनाव के लिए यह सूची निर्वाचन आयोग को भेजी है जिसमें पार्टी के बुजुर्ग नेता मुलायम सिंह यादव और उनके भाई शिवपाल सिंह यादव का नाम शामिल नहीं है। दोनों का नाम फूलपुर और गोरखपुर में हुए उप चुनाव के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में भी नहीं था। गौरतलब है कि कैराना के लिए रालोद पहले ही सूची जारी कर चुकी है जिसमें सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम शामिल है। नूरपुर उपचुनाव के लिए सपा के प्रमुख महासचिव राम गोपाल की ओर से जारी की गई सूची में अखिलेश यादव, किरनमय नंदा, मो. आजम खां, राम गोविंद चौधरी, राजेंद्र चौधरी, अहमद हसन, नरेश उत्तम पटेल, धर्मेंद्र यादव, रामवृक्ष यादव आदि के नाम शामिल हैं।

भाजपा ने तोड़े युवाओं के सपने : अखिलेश

पटना में लालू प्रसाद यादव के बेटे के विवाह कार्यक्रम से लौटने के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने युवाओं के सपने तोड़ दिए हैं। किसानों को धोखा दिया है। किसानों की आय दोगुनी करने का दावा भाजपा का ख्याली पुलाव है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार जनहित का कोई कार्य नही कर रही है। पूरे प्रदेश में शिक्षा-स्वास्थ्य की बुरी हालत है। बेरोजगार नौजवानों की संख्या बढ़ती जा रही है। हत्या, दुष्कर्म, लूट, डकैती की बढ़ती घटनाओं से भाजपा सरकार की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगते हैं। भाजपा सरकार कोई भी नया काम नही कर रही है।

सपा का भारत नेपाल मैत्री में योगदान

नेपाल से संबंधों की बात पर उनका कहना था कि नेपाल में आई भीषण प्राकृतिक आपदा के समय डाक्टरों के दल के साथ पर्याप्त खाद्य सामग्री सपा सरकार ने भिजवाई थी। समाजवादी सरकार में वाराणसी से काठमांडू तक भारत-नेपाल मैत्री बस सेवा की शुरूआत की गई थी। अयोध्या में जनकपुरी से आने वाली बस की अगवानी करते समय मुख्यमंत्री को इसका उल्लेख करने में संकोच नहीं करना चाहिए था। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार लोगों का मुददों से ध्यान हटाकर जातीय विद्वेष फैलाने का काम कर रही है। जनता प्रदेश सरकार की अक्षमता और झूठे प्रचार को जान गई है।

Posted By: Nawal Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप