सुलतानपुर, जेएनएन। पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद मेनका गांधी ने जिला प्रवास के अंतिम दिन मंगलवार को कहा कि निर्भया कांड के दोषियों को फांसी देने का इंतजार पूरा देश कर रहा है। वह भी इसकी प्रतीक्षा कर रही हैं। उनकी फांसी तो चार माह में ही हो जानी चाहिए थी, लेकिन सात साल गुजर गए। हम उन्हें मुफ्त में क्यों खिला रहे हैं। उन्होंने कहा इस प्रकरण में देरी होने से वह निराश हुई हैं। सांसद सवालों के जवाब में बोल रही थीं। उन्होंने संसदीय क्षेत्र मे आयोजित करीब एक दर्जन नुक्कड़ सभाओं के जरिए लोगों से कहा कि जिले का वातावरण बदल रहा है। अब विकास की बातें हो रही हैं। 

रखी काऊ हास्टल की आधार शिला

सांसद ने डेयरी संचालकों के दुधारू पशुओं के लिए शहर से सटे दिखौली गांव में बनाए जाने वाले काऊ हास्टल की आधार शिला रखी। इसके लिए दो एकड़ भूमि की व्यवस्था की गई है। निर्माण में करीब 40 लाख की धनराशि व्यय की जाएगी। इस दौरान उन्होंने कहा कि एक जगह दुधारू मवेशियों के रहने से नगर भी स्वच्छ रहेगा और दुग्ध उत्पादन कर पशुपालक उसकी बाजार में बिक्री कर सकेंगे। कार्यक्रम से पूर्व सांसद ने शास्त्रीनगर स्थित आवास पर लोगों की समस्याओं का निराकरण किया। भाजपा प्रवक्ता विजय ङ्क्षसह के आवास विवेकानंद नगर पहुंच कर नवदंपती को आशीर्वाद दिया। 

स्थाई कमीशन देने के फैसले का स्वागत

महिला अधिकारियों को स्थाई कमीशन दिए जाने के लिए उच्चतम न्यायालय के फैसले का मेनका गांधी ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि यह एक अच्छा निर्णय है। उन्होंने पीडि़त महिलाओं को सुरक्षा और उनका अधिकार दिलाए जाने के लिए सखी की चर्चा की । कहा कि यह चार माह में बनकर तैयार हो जाएगा, जहां एक ही छत के नीचे पुलिस, वकील, डाक्टर व नर्स सभी मुफ्त में उनकी लड़ाई लड़ेंगे।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस