लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में अपने मुख्यमंत्रित्व काल में पचास लाख लोगों को रोजगार देने के अभियान में लगे योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस संक्रमण काल में भी बेसिक शिक्षा विभाग में 69000 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र देने के बाद माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर भी कदम बढ़ा दिया । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को सरकारी आवास पर माध्यमिक शिक्षा विभाग के 436 चयनितों को नियुक्ति पत्र वितरित किए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को राजकीय माध्यमिक स्कूलों में प्रवक्ता और सहायक अध्यापक पद पर चयनित 436 अभ्यर्थियों को ऑनलाइन नियुक्ति पत्र जारी किए। पांच कालिदास मार्ग स्थित सीएम आवास पर आयोजित इस कार्यक्रम में उन्होंने शिक्षकों को दायित्व बोध का पाठ भी पढ़ाया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चयन प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी रही है, इस पर कोई अंगुली नहीं उठा सकता। चयन प्रक्रिया में अगर कहीं भी गोपनीयता भंग होती है, तो कठोर कार्रवाई की जाती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में 34 साल बाद नई शिक्षा नीति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लेकर आए हैं और इसे लागू कराना सिर्फ सरकार की ही जिम्मेदारी नहीं है। प्रत्येक शिक्षक नई शिक्षा नीति के ड्राफ्ट को पढ़ें और उसे अपने विद्यालय में लागू कराए। आप सभी को यह नियुक्ति पत्र ऐसे समय में मिल रहा है, जब लगभग 34 साल बाद अपना देश नई शिक्षा नीति को लेकर आगे आया है। इसके लिए हम प्रधानमंत्री के आभारी हैं।अब शिक्षा केवल सैद्धांतिक पाठ्यक्रम का ही माध्यम नहीं रहेगी, बल्कि व्यावहारिक ज्ञान का भी माध्यम बनेगी। इसके लिए नई शिक्षा नीति के ड्राफ्ट का अध्ययन आवश्यक है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 4 फरवरी, 2021 को चौरी चौरा कांड को लेकर राज्य सरकार वर्ष भर के कार्यक्रमों का आयोजन शुरू करेगी। इसी तरह 15 अगस्त 2021 से लेकर 15 अगस्त 2022 तक आजादी के 75 साल का जश्न मनाया जाएगा। देश की स्वाधीनता के 75 वर्ष पूर्ण होने जा रहे हैं। इसको लेकर व्यापक कार्यक्रम बनने जा रहे हैं। हमें देखना होगा कि हर विद्यालय व संस्था इससे कैसे जुड़ सकते हैं। नवचयनित शिक्षक इसमें प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं। शिक्षकों को चाहिए कि वह महापुरुषों के बारे में विद्यार्थियों को बताएं और कार्यक्रम आयोजित कर, उनके भीतर देशभक्ति की भावना जगाएं। सरकार की योजनाओं के बारे में भी आम लोगों को जानकारी दें। कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला भी मौजूद रहीं।

राजकीय माध्यमिक स्कूलों में प्रवक्ता व सहायक अध्यापक के पद पर चयनित 436 अभ्यर्थियों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को ऑनलाइन नियुक्ति पत्र वितरित किए। सरकारी आवास पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री विभिन्न जिलों के पांच नव चयनित अभ्यर्थियों से वर्चुअल संवाद भी किया। इन सभी को मनपसंद स्कूल की चॉइस और मेरिट के आधार पर स्कूल आवंटित किया गया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ खुद माध्यमिक विद्यालयों के 298 प्रवक्ता और 138 सहायक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित किया। योगी आदित्यनाथ सरकार मिशन रोजगार के तहत लगातार युवाओं को रोजगार उपलब्ध करा रही है। इसी मिशन के तहत भी युवाओं को नियुक्ति पत्र दिए गए हैं। मिशन रोजगार के तहत सीएम योगी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नियुक्ति पत्र वितरित किया।

50 लाख युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य : सरकार ने युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मिशन रोजगार की शुरुआत की थी। इस मिशन की शुरुआत पांच दिसंबर को हुई थी। योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस अभियान के तहत 50 लाख युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य तय किया है।

संकट के समय में भी रोजगार देने में आगे योगी आदित्यनाथ सरकार : योगी आदित्यनाथ सरकार संकट के समय में भी प्रदेश के बेरोजगार युवकों को रोजगार देने की दिशा में लगातार काम कर रही है। योगी आदित्यनाथ सरकार पिछले चार वर्ष में चार लाख युवाओं को राजकीय सेवाओं में नियोजित करने के लक्ष्य की पूॢत की ओर बढ़ रही है। पहले भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई विभागों में नियुक्त हुए बेरोजगारों को अपने हाथों से नियुक्ति पत्र सौंप चुके हैं। 

Edited By: Dharmendra Pandey