अयोध्या, संवाद सूत्र। दुर्गापूजा महोत्सव के दौरान हो रहे देवी जागरण में चार युवकों में एक युवक पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। हमले में युवक की मौत हो गई, जबकि उसकी दो बहनें गंभीर रूप से घायल हैं, जिन्हें लखनऊ रेफर कर दिया गया है। स्थानीय लोगों को एकत्र होता देख हमलावर अपने वाहन छोड़ कर फरार हो गए। वारदात शहर के देवकाली स्थित नील गोदाम के पास की है। एसपी सिटी विजयपाल सिंह ने बताया कि बुधवार की देर रात नील गोदाम के पास सजे दुर्गा पूजा पंडाल के पास जागरण हो रहा है।

बगल में ही मंजीत यादव का घर है। जागरण के दौरान ही लग्जरी वाहनों से पहुंचे युवकों का एक स्थानीय युवक से विवाद होने लगा। शोर सुनकर घर से बाहर निकल कर मंजीत मौके पर पहुंच गए। बदमाशों ने मंजीत पर फायरिंग शुरू कर दी। मंजीत को बचाने पहुंची उनकी बहन लकी और खुशी को भी बादमाशों ने गोली मार दी। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने तीनों को जिला अस्पताल पहुंचाया। एएसपी पलाश बंसल ने बताया कि जिला अस्पताल में चिकित्सकों ने मंजीत को मृत घोषित कर दिया। दोनों बहनों को लखनऊ रेफर किया जा रहा है। एसएसपी शैलेश पांडेय ने भी घटना स्थल का जायजा लिया।

मंजीत की मां सावित्री ने बताया कि उनकी किसी से कोई रंजिश नहीं है। मंजीत की पत्नी गुड़िया का कहना है कि जागरण स्थल पर विवाद की बात सुनकर उनके पति बाहर निकले थे, तभी बदमाशों ने उनके पति और दोनों ननद को गोली मार दी। स्वजनों की माने तो तीन लग्जरी कारों में सवार हो कर बदमाश आए थे। हमलावरों में कुछ लोग जनौरा के रहने वाले बताए गए है। एसएसपी का कहना है कि मौके पर मिली हमलावरों की कारों को कब्जे में लेकर वाहन स्वामियों का पता लगाया जा रहा है। एक संदिग्ध युवक को हिरासत में लिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

Edited By: Vikas Mishra