लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश की राजधानी में पुलिस की नाकामी के कारण अपराधी दुस्साहसी तथा नृशंस होते जा रहे है। लखनऊ के आशियाना थाना क्षेत्र में कल देर शाम एक सात वर्ष की बच्ची को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म किया गया। इसके बाद अपराधी उसे थाना के पास फेंककर फरार हो गए।

घर के बाहर खेल रही सात साल की बच्ची को एक बदमाश ने टॉफी देने के बहाने अगवा कर लिया। मासूम से दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने के बाद उसे आशियाना थाने के पास फेंककर फरार हो गया। रेलवे कर्मचारी की बेटी शाम करीब साढ़े तीन बजे घर के बाहर खेल रही थी।

पढ़ें- कानपुर और बागपत में किशोरियों को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म

इस दौरान एक युवक ने मासूम को टॉफी खिलाने का झांसा देकर पास बुलाया और उसे अगवा कर ले गया। शाम पांच बजे तक जब बच्ची नजर नहीं आई तो परिजनों ने उसकी खोजबीन की। पड़ोस में रहने वाले बच्चों से जब पूछा गया तो उन्होंने एक युवक के बारे में जानकारी दी, जो मासूम को टॉफी देने के बहाने साथ ले गया था।

इसी बीच मासूम के पिता के मोबाइल नंबर पर एक अंजान नंबर से फोन आया। फोन करने वाले का कहना था कि आशियाना थाने के पास गुरुद्वारे के पीछे मासूम बदहवास हालत में मिली है। मासूम ने राहगीर को पिता का नंबर देकर उन्हें फोन कर बुलाने की बात कही। बच्ची के पिता मौके पर पहुंचे और पुलिस को जानकारी दी। बच्ची के सिर व चेहरे पर चोट के निशान थे और वह खून से लथपथ थी।

देखें फोटो : कन्नौज में 'बदायूं कांड', दुष्कर्म के बाद शव पेड़ पर लटकाया

कक्षा एक की मासूम छात्र को लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस के मुताबिक उसकी हालत गंभीर है और वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं है। बच्ची की हालत बिगडऩे पर डॉक्टरों ने उसे क्वीन मेरी अस्पताल रेफर कर दिया।

दादी को भी नहीं लगी भनक

बच्ची की दादी घर के बाहर बैठी हुई थीं। इसी बीच बदमाश ने उसे अगवा कर लिया। थोड़ी देर बाद दादी ने बच्ची के बड़े भाई से पूछा तो उसने जानकारी से इंकार कर दिया। घरवालों का कहना है कि सभी दरवाजे पर मौजूद थे। बावजूद उनको भनक नहीं लगी।

पढ़ें- युवक ने किशोरी से किया दुष्कर्म, पीड़िता ने किया आत्महत्या का प्रयास

पुलिस ने नहीं की मदद

परिवार के लोगों के मुताबिक मासूम के लापता होने के बाद उन लोगों ने आशियाना थाने में शिकायत की थी। बावजूद इसके पुलिस ने टालमटोल किया। थोड़ी देर बाद मासूम का पता चलने के बाद वारदात की जानकारी होने पर पुलिस सक्रिय हुई और लोकबंधु अस्पताल पहुंची। जानकारी पाकर एसएसपी मंजिल सैनी एवं डीआइजी प्रवीण कुमार मौके पर पहुंचे।

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस