हरदोई जागरण संवाददाता। मां से बदला लेने के लिए उसके सनकी आशिक ने मासूम बच्ची की निर्मम हत्या की थी। हरियावां क्षेत्र में गन्ने के खेत में चाकू से कक्षा दो की छात्रा की हत्या के आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर राजफाश कर लिया है। उसका कहना है कि बच्ची की मां ने धीरे धीरे उससे तीन लाख रुपये ले लिए थे और अब पहले पति की तरफ उसका रुझान फिर बढ़ रहा था। उसे सबक सिखाने के लिए ही उसकी बेटी की हत्या कर दी।

हरियावां के गौराखेड़ा गांव में सोमवार को गन्ने के खेत में एक बच्ची का अर्द्धनग्न शव मिला था। उसके साथ दुष्कर्म कर हत्या की आशंका जताई जा रही थी, हालांकि मृतका के पिता ने गांव के ही बाबूराम पर आरोप लगाया था। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पूरा राज सामने आ गया। मंगलवार को एएसपी अनिल कुमार ने पत्रकार वार्ता में पूरी जानकारी दी। पुलिस हिरासत में बाबूराम ने भी बताया कि मृतका की मां अपने पहले पति को छोड़कर करीब नौ साल से बाबूराम के साथ रह रही थी। पहले पति से उसके तीन पुत्रियां और एक पुत्र है, जबकि बाबूराम से भी दो पुत्रियां हैं। बाबूराम जब दिल्ली में रहता था तो धीरे धीरे उसने उसे तीन लाख रुपये दे दिए थे, कुछ वर्ष से वह गांव में था। दो वर्ष पहले बच्ची की मां उसे छोड़कर पहले पति के पास चली गई थी, लेकिन करीब एक माह पहले फिर उसके साथ रहने लगी, लेकिन उसका पहले पति की तरफ रुझान कम नहीं हो रहा था, जिस पर वह अपने तीन लाख रुपये मांगने लगा, लेकिन रुपये न देकर वह उससे लड़ती थी। उसी को सबक सिखाने के लिए उसने बच्ची की हत्या कर दी।

दुष्कर्म से आरोपित मुकरा, पर परिस्थितियां नहीं मानने को तैयार: हत्यारोपित बाबूराम ने बच्ची से दुष्कर्म की बात से साफ मना किया है, लेकिन परिस्थितियां मानने को तैयार नहीं हैं। अगर उसके बच्ची की मां को सबक सिखाना ही था तो उसके पुत्र की हत्या न करके बच्ची को क्यों मारा। दूसरी बात हत्या करनी थी तो बच्ची के कपड़े क्‍यों उतारे। हालांकि आरोपित का कहना है कि उसने सोचा था कि कपड़े उतार देगा तो रात में जानवर शव ख जाएंगे पर उसका बयान हजम नहीं हो रहा है। हालांकि एसपी अजय कुमार का कहना है कि पोस्टमार्टम और फारेंसिक रिपोर्ट से ही स्थिति स्पष्ट होगी।

चौराई बेचकर आई थी बच्ची: बच्ची सब्जी के लिए ही नहीं, नारी (चौराई) बेचने के लिए भी लेने गई थी। एक बार वह बेच भी आई थी। आरोपित ने खुद बताया कि उसके पास 25 रुपये भी थे, लेकिन उसने फेंक दिए। क्योंकि बच्ची उसे जानती थी तो वह आराम से उसके साथ गन्ने के खेत में चली गई और फिर उसने उसकी हत्या कर दी।

दुष्कर्म में बंद है आरोपित का भाई: हत्यारोपित बाबूराम का भाई दुष्कर्म के मामले में जेल में बंद है। शाहजहांपुर में ईट भट्ठे पर काम करने के दौरान उसने एक बच्ची से दुष्कर्म किया था, जिसके बाद से वह जेल में बंद है।

Edited By: Rafiya Naz