लखनऊ, जेएनएन। जालसाजों ने नीलांश गु्रप द्वारा ग्राहकों हेतु वाटर पार्क के लिए बनाई गई समर बिजनेस प्रमोशन किट (डिस्काउंट पास) की फर्जी बुकलेट तैयार कर सैकड़ों लोगों को दो हजार रुपये में बेच दी। जालसाजों ने ग्रुप के नाम से फर्जी पेटीएम वाॅॅलेट लेकर उसमें लाखों रुपये ट्रांसफर कराए। ग्राहक जब वाटर पार्क पहुंचे तो उन्हें फर्जीवाड़े की जानकारी हुई। इसके बाद उन्होंने इसकी प्रबंधन से शिकायत की। इस पर गु्रप के निदेशक सतीश श्रीवास्तव ने चार जालसाजों के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। 

इंस्पेक्टर हजरतगंज राधा रमण सिंह ने बताया कि पड़ताल में पता चला कि जालसाजों में गोरखपुर निवासी आइमन सुहैल उसका साथी शशांक, अरविंद और टिंकू पाठक हैं। निदेशक के मुताबिक, जालसाजों ने सैकड़ों लोगों को किट बेचकर करीब 15-20 लाख रुपये की धोखाधड़ी की है। 

शुगर मिल के कर्मचारियों को जालसाजों ने बनाया टारगेट 

गु्रप के निदेशक सतीश श्रीवास्तव ने बताया कि बिजनेस प्रमोशन के लिए गैर जनपदों में रहने वाले लोगों और निजी कंपनी कर्मचारियों के लिए ऑफर किट बनाई गई थी। इसकी कीमत दो हजार रुपये रखी गई थी। जालसाजों ने फर्जी किट तैयार करके उसे सीतापुर, हरदोई, शाहजहांपुर समेत पड़ोसी जनपदों में स्थित अन्य शुगर मिल के कर्मचारियों को टारगेट कर बेची थी। शुगर मिल के कर्मचारियों ने ही जालसाजों के बारे में डिटेल दी थी। जालसाज जब किट बेचने पहुंचे तो उन्होंने विजिटर्स रजिस्टर में अपना नाम, मोबाइल नंबर भी लिखा था। इसके साथ ही जालसाज मिल में लगे सीसी कैमरे में भी कैद हो गए थे। 

किट में यह था ऑफर 

निदेशक सतीश श्रीवास्तव ने बताया कि किट में रूम के किराए, खान-पान और वाटर पार्क में रुकने के ऑफर थे। दो हजार के पास में इन बिंदुओं पर ग्राहकों के लिए ऑफर किया गया था। 

ग्रुप के नाम से फर्जी पेटीएम वाॅॅलेट तैयार कर लिए रुपये 

ग्राहकों ने जब जालसाजों से कहा कि वह कंपनी के खाते में ही रुपये ट्रांसफर करेंगे तो उन्होंने ने नीलांश थीम पार्क रिजार्ट एवं वाटर पार्क के नाम से फर्जी पेटीएम वाॅॅलेट रजिस्टर्ड करा लिया। इसके बाद किट बिक्री का ग्राहकों से दो हजार रुपये पेटीएम करवा लेते थे। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप