लखनऊ[जागरण संवादाता]। राजधानी में गुरुवार रात बदमाशों ने एक बुजुर्ग दंपती को बंधक बनाकर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया। विरोध करने पर बदमाशों ने महिला के मुंह में टेप चिपकाकर चाकू से वारकर घायल कर दिया। वहीं, महिला के पति को चाकू की नोंक पर रख कैश और जेवरात लूटे। इसके बाद बुजुर्ग दंपति का बांधकर भाग निकले। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है। फिलहाल अभी तक बदमाशों का कोई सुराग नहीं लग पाया है।

मुंह पर टेप चिपकाकर किया चाकू से हमला

मामला मड़ियाव के राम-राम बैंक के पास स्थित एसबीआइ कॉलोनी का है। 2006 में बैंक से सेवानिवृत मदन मोहन मिश्र यहां पत्‍‌नी रत्‍‌ना के साथ रहते थे। मदन मोहन के मुताबिक, रात करीब पौने आठ बजे उनकी पत्‍‌नी पूजा करने जा रही थीं, उसी दौरान एक बदमाश गेट खोलकर भीतर दाखिल हुआ। पत्‍‌नी उसे रोकने की कोशिश की तो बोला कि उसे शर्मा जी ने भेजा है। इससे पहले कि पत्‍‌नी कुछ समझ पाती, पीछे से तीन बदमाश आ गए। बदमाशों ने उसे दबोच लिया और घसीटते हुए भीतर के कमरे में ले गए। इसके बाद पत्‍‌नी के मुंह पर टेप चिपका दिया। लगातार विरोध करने की वजह से एक बदमाश ने पत्‍‌नी के हाथ पर चाकू से हमला कर दिया। इस बीच शोरगुल सुनकर मदन मोहन कमरे में दाखिल हुए और सामने का नजारा देखकर दंग रह गए। तभी बदमाशों ने उन्हें भी दबोच लिया और चाकू से वारकर लहूलुहान कर दिया।

इंदिरानगर में रहती है बेटी

दंपती की चार बेटिया दीपा, सोनल, अपर्णा और मीनाक्षी तथा दो बेटे मनीष और आशीष हैं। मीनाक्षी इंदिरानगर में रहती हैं, जबकि अन्य सभी बच्चे शहर से बाहर रहकर नौकरी करते हैं। जानकारी पाकर मीनाक्षी मौके पर पहुंची और पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की माग की। सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस

मौके पर एएसपी ट्रास गोमती हरेंद्र कुमार पहुंचे और छानबीन की। पड़ताल के दौरान दंपती के घर के कुछ दूर आगे एक मकान में सीसीटीवी कैमरा लगे होने की बात सामने आई। पुलिस फुटेज के माध्यम से बदमाशों का पता लगाने का प्रयास कर रही है।

जेवर ले लो, हमें मारना नहीं

दंपती को जान से मारने की धमकी देते हुए नगदी और जेवर की माग की। बदमाश मदन मोहन पर चाकू से वार करने लगे। जिसपर पत्‍‌नी रत्‍‌ना गिडगिड़ाती रही कि छोड़ दो इन्हें, लेकिन ओ नहीं माने। पति की जान बचाने के लिए रत्‍‌ना ने घर में रखे जेवर दे दिए। इसके बाद बदमाशों ने मदन मोहन के हाथ-पैर बाध दिए और कमरे की तलाशी लेने के बाद 22,500 रुपये व जेवरात लेकर भाग निकले। पड़ोसियों से मागी मदद

पीड़ित दंपती के मुताबिक, बदमाश करीब आधे घटे तक घर में मौजूद रहे और कमरों की तलाशी लेते रहे। बदमाशों के भागने के बाद रत्‍‌ना ने किसी तरह खुद को मुक्त किया और फिर पति को आजाद करने के बाद पीछे के रास्ते बाहर निकलीं। शोर मचाकर पड़ोसियों से मदद मागी, जिसके बाद पुलिस को घटना की जानकारी हुई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप