लखनऊ, राज्य ब्यूरो। New Medical Colleges in UP: उत्तर प्रदेश के छह जिलों में मेडिकल कालेज खोलने के लिए जल्द निजी संस्थाओं से टेंडर आमंत्रित किये जाएंगे। सार्वजनिक-निजी सहभागिता (PPP) माडल पर ये मेडिकल कालेज खोले जाएंगे। मेडिकल कालेजों की स्थापना के लिए केंद्र सरकार बीते सितंबर में ही व्यवहार्यता अंतर वित्त पोषण (VGF) स्कीम के तहत 1,012 करोड़ की आर्थिक मदद करने को मंजूरी दे चुकी है। इस पर 1,525 करोड़ रुपये खर्च होने हैं। बाकी रकम निजी संस्थाएं खर्च करेंगी। इन्हें 33 साल के लिए जिला अस्पताल व उसकी जमीन लीज पर दी जाएगी।

निजी संस्थाएं पीपीपी माडल पर बनाएंगी मेडिकल कालेज

प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार ने बताया कि मैनपुरी, महोबा, बागपत, हमीरपुर, हाथरस और कासगंज में पीपीपी माडल पर नए मेडिकल कालेज खोलने की तैयारियां तेज कर दी गई हैं। जल्द निजी संस्थाओं को मेडिकल कालेज स्थापित करने के लिए आमंत्रित किया जाएगा। प्रदेश में 16 जिले ऐसे हैं, जहां न तो कोई सरकारी मेडिकल कालेज है और न ही प्राइवेट मेडिकल कालेज है। उनमें यह छह जिले भी शामिल हैं।

10 जिलों में मेडिकल कालेज खोलने का कार्य तेज

महाराजगंज व संभल में निजी निवेशकों का चयन कर मेडिकल कालेज स्थापित करने का काम तेज कर दिया गया है। शामली व मऊ में भी मेडिकल कालेज बनाने के लिए चयन प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है। इस तरह अब कुल 10 जिलों में नए मेडिकल कालेज खोलने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। बाकी जिलों में भी जल्द पीपीपी माडल पर मेडिकल कालेज खोले जाएंगे। प्रदेश में अभी 65 सरकारी व प्राइवेट मेडिकल कालेज हैं। केंद्र सरकार के चार आल इंडिया इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज हैं। वहीं 14 सरकारी मेडिकल कालेज निर्माणाधीन हैं।

यह भी पढ़ें : यूपी में 2,382 विशेषज्ञ डाक्टरों की होगी भर्ती, यूपीपीएससी जल्द जारी करेगा विज्ञापन

Edited By: Umesh Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट