लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के सत्ता संभालने के बाद से भगवा रंग का असर काफी गहराने लगा है। मुख्यमंत्री कार्यालय के बाद अन्य सरकारी भवन पर भगवा रंग चढ़ गया। हज समिति के कार्यालय की बाउंड्री वॉल के बाद जब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया सेंटर की दीवार पर भगवा रंग चढ़ाया गया तो बवाल होने लगा। हज समिति कार्यालय की बाउंड्री वॉल के बाद अब कांग्रेस दफ्तर के मीडिया सेंटर की दीवार फिर से पुराने रंग में आने लगी है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के दफ्तर के मीडिया सेंटर को भी कल भगवा रंग से पोता गया था। जब लोगों की निगाह पड़ी तो अब उसको फिर से सफेद रंग से पोता जा रहा है। भगवा रंग हटाने की बाबत कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस रंगों में भेदभाव नहीं करती है सभी रंग हमारे हैं।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में मीडिया सेंटर की दीवार को भगवा रंग में रंग गया था। मॉल एवेन्यू में प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के मीडिया सेंटर की एक दीवार को भगवा रंग से पुताई की गई थी। इसके बाद वहां पर बवाल हो गया। अब यहां से भगवा रंग हटाकर दीवार को फिर से सफेद रंग में करने का काम शुरू हो गया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर को मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने फिर से सफेट रंग चढ़ाने को कहा। कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में इन दिनों रंगाई-पुताई को काम चल रहा है। जिस कारण यहां के मीडिया सेंटर की एक दीवार को भगवा रंग में रंग दिया गया। कांग्रेस प्रवक्ता जीशान हैदर ने कहा कि कांग्रेस रंगों में भेदभाव नहीं करती है सभी रंग हमारे हैं। 

पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में मीडिया हाल के बगल में प्रवक्ताओं के कमरे समेत एक अन्य कमरे की दीवार का रंग भगवा कर दिया गया। सोशल मीडिया पर खबर फैलते ही कांग्रेस नेताओं ने पेंटर बुलाकर कलर को बदलवाने का काम शुरू कर दिया। कांग्रेस नेताओं की नजर में जो रंग किया गया है वह भगवा नहीं है, बल्कि उससे मिलता-जुलता गाढ़ा पीला रंग है।

कांग्रेस मीडिया कोआर्डिनेटर राजीव बक्शी का कहना है कि पेंटर की गलती से रंग बदल गया है। जो रंग किया गया है वह भगवा नहीं है बल्कि गाढ़ा पीला है। बक्शी का कहना है पेंटर को कहा गया था कि तिरंगे के तीनों रंगों से दीवारों को रंगना है। उसने तिरंगे के केसरिया रंग के स्थान पर गाढ़ा पीला रंग कर दिया।

Posted By: Dharmendra Pandey