लखनऊ, जेएनएन। शुक्रवार को ऐशबाग ईदगाह में चंद लोगों द्वारा जुमे की नमाज पढ़ी गई। इसी के साथ ही एक बार फिर इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने आठ जून से खुलने वाले धार्मिक स्थलों को लेकर 16 सूत्री एडवाइजरी जारी की। मौलाना ने मस्जिद में वुजू करने पर रोक लगाते हुए घर से ही वुजू करके आने की सलाह दी है। मास्क लगाकर नमाज अदा करने और मस्जिद में इबादत के लिए आने वाले 10 साल तक के बच्चों और 65 साल के ऊपर के बुजुर्गों का मस्जिदों में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

फरंगी महली ने मस्जिद में केवल फर्ज नमाज जमात में अदा करने और सुन्नतें और नफल घर में अदा करने की अपील की है। उन्होंने मस्जिद में भीड़ जमा न होने की गुजारिश की है। जुमे की नमाज के लिए अलग-अलग चार जमातों के एहतिमाम की अपील भी की है। मस्जिद की टोपी इस्तेमाल न करने और अपनी टोपी लाने की भी अपील की गई है। मौलाना ने कहा कि लॉकडाउन खुलने के 15 दिनों तक हालात पर पैनी नजर रखी जाएगी, इसके बाद दोबारा एडवाजरी जारी होगी। आसिफी मस्जिद और टीले वाली मस्जिद में भी भीड़ को रोकने के लिए एडवाइजरी को लेकर मंथन किया जा रहा है।

हनुमान सेतु मंद‍िर में नहीं होगी परिक्रमा

राजधानी के प्रसिद्ध हनुमान सेतु मंदिर में परिक्रमा पर रोक लगाने समेत कई प्रतिबंधों को लेकर शुक्रवार को मंथन किया गया। मंदिर के सचिव दिवाकर त्रिपाठी ने बताया कि परिक्रमा को रोकने के साथ ही एक तरफ से प्रवेश दिया जाएगा। मास्क लगाने और सैनिटाइजर का इंतजाम करने समेत कई मसलों पर कमेटी के साथ बैठक के बाद एडवाइजरी जारी की जाएगी। मंगलवार की भीड़ को रोकने के विशेष इंतजाम पर भी मंथन किया गया।

मनकामेश्वर शक्तिपीठ मंदिर की महंत देव्या गिरि ने बताया कि मंदिर में घंटा बजाने पर रोक रहेगी तो शारीरिक दूरी बनाने के साथ ही मास्क अनिवार्य होगा। गर्भ गृह में एक से अधिक लोगो को रुकने नहीं दिया जाएगा। प्रतिमाओं को छूने और श्रद्धालुओं को मंदिर में रुकने पर प्रतिबंध रहेगा। हालांकि सरकार की ओर से आने वाली गाइड लाइन के बाद ही कुछ नए प्रतिबंध लगाए जाएंगे। राजेंद्र नगर महाकाल मंदिर के व्यवस्थापक अतुल मिश्र ने बताया कि पुजारी के अलावा मंदिर के गर्भ गृह में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। नई गाइड लाइन के बाद आगे की रणनीति बनेगी। खुलने से पहले महाकाल से कोरोना मुक्ति की कामना की जाएगी।

अलीगंज के नए पुराने हनुमान मंदिर में भी गाइड लाइन के बाद एडवाइजरी जारी होगी। कोनेश्चर महादेव मंदिर, दक्षिणमुखी हनुमान मंदिर, छांछी कुआं, आनंदी माता मंदिर व संतोषी माता मंदिर समेत सभी धार्मिक स्थलों में मास्क और सैनिटाइजर से हाथ साफ करना होगा। प्रसाद चढ़ाने पर भी प्रतिबंध पर मंथन हो रहा है। मंदिरों को खोलने से पहले सैनिटाइज किया जाएगा। कोरोनो से मुक्ति की आरती के साथ मंदिर खोला जाएगा।

पूजन के साथ खुलेगा लॉर्ड अयप्पा मंदिर

गोमतीनगर के लॉर्ड अयप्पा मंदिर को भी खोलने की तैयारियां चल रही हैं। मंदिर की भीड़ को रोकने और सुरक्षा को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है। मंदिर के अध्यक्ष केके जर्नादन ने बताया कि आठ जून को सुबह 10:30 बजे से पूजन होगा और देवताओं को भोग लगाकर कोरोना संकट से निजा दिलाने की प्रार्थना की जाएगी। शाम को आठ बजे आरती होगी। 

गुरुद्वारों में नहीं होंगे बड़े आयोजन

लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह बग्गा ने बताया कि प्रकाश पर्व व शहीदी दिवस जैसे समारोह गुरुद्वारों में न करने की अपील की गई है। मास्क का प्रयोग करने और शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए राजधानी की सभी 42 गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटियों से अपील की गई है। सरकार की ओर से नई गाइड लाइन आने के बाद फिर मंथन किया जाएगा। गुरुद्वारा राजाजीपुरम के धार्मिक सचिव ने बताया कि खुलने से पहले गुरुद्वारे को सैनिटाइज किया जा रहा है। गुरुद्वारा नाका हिंडोला, यहियागंज, आलमबाग, सदर, आशियाना, मानसरोवर, चंदरगनर व पटेलनगर समेत सभी गुरुद्वारों में संगतों की भीड़ पर प्रतिबंध रहेगा। 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस