लखनऊ, जेएनएन। उत्‍तर प्रदेश में आपराधिक घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं।  राजधानी में हजरतगंज हाई सिक्योरिटी जोन एवं पुलिस कमिश्नर आवास से चंद कदम दूर शुक्रवार देर रात सपा एमएलसी अमित यादव के फ्लैट में 38 वर्षीय युवक की गोली लगने सेे मौत हो गई। हाई सिक्योरिटी जोन में हुई वारदात से पुलिस अधिकारियों की नींद उड़ गई। आनन-फानन इंस्पेक्टर हजरतगंज से लेकर आलाअफसर मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने सपा एमएलसी के भाई समेत चार लोगों को हिरासत में ले लिया है।

पिस्टल देख रहे थे, तभी अचानक चल गई गोली

घटना हजरतगंज स्‍थित लॉ-प्लास में शाहजहांपुर से एमएलसी अमित यादव के फ्लैट की है। इंस्पेक्टर हजरतगंज अंजनी पांडेय के मुताबिक, फ्लैट में एमएलसी के भाई पंकज यादव रहते हैं। शुक्रवार देर रात फ्लैट में पंकज के अभिन्न मित्र विनय का बर्थ-डे मनाया जा रहा था। पार्टी में सर्वोदयनगर आजाद नगर निवासी उसका दोस्त राकेश रावत समेत पांच लोग थे। इस दौरान यह लोग पिस्टल देख रहे थे। तभी विनय से गोली चली और राकेश (38) के सीने में धंस गई। राकेश खून से लथपथ होकर मौके पर ही गिर पड़ा। उसे आनन-फानन सभी लोग ट्रामा लेकर पहुंचे। जहां, डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी पर एसीपी हजरतगंज राघवेंद्र मिश्र, डीसीपी मध्य समेत आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। फोरेंसिक टीम पहुंची घटनास्थल का निरीक्षण किया गया। पुलिस ने विनय को हिरासत में ले लिया।

सपा एमएलसी के भाई की है अवैध पिस्टल

एसीपी हजरतगंज ने बताया कि अवैध पिस्टल सपा एमएलसी के भाई पंकज यादव की है। पंकज की निशानदेही पर पिस्टल और एक मैगजीन बरामद कर ली गई है। पंकज के कई सालों से यह पिस्टल अवैध रूप से रखे था। इस बात की पड़ताल की जा रही है कि वह पिस्टल कहां से लेकर आया था। उसे पिस्टल कैसे मिली। चारों आरोपितों को हिरासत लेकर गहन पूछताछ जारी है। पंकज अपने साथियों को पिस्टल दिखा रहा था। पंकज से पिस्टल राकेश ने ली और फिर विनय देख रहा था। इस दौरान विनय से ट्रिगर दबने के कारण गोली चली।

नशे में धुत थे सभी, मौके पर मिले बीयर के 20 कैन

पुलिस ने बताया कि पार्टी के दौरान सभी बीयर और शराब पी रहे थे। नशे में धुत थे। मौके से पुलिस को करीब 20 कैन बीयर के मिले हैं। इसके साथ ही अन्य चीजें भी मिली हैं। नशे के दौरान पिस्टल देखने दिखाने में विनय से ट्रिगर दबने के कारण मौत हुई है।

पांचों घनिष्‍ठ दोस्त थे, कक्षा आठ से स्नातक की साथ की थी पढ़ाई

एसीपी हजरतगंज ने बताया कि सूचना पर राकेश के परिवारीजन भी मौके पर आ गए हैं। उनसे पूछताछ में पता चला कि राकेश मूल रूप से सतरिख बाराबंकी का रहने वाला है। यहां वह प्राइवेट फाइनेंस का काम करता था। राकेश, विनय और पंकज समेत दोनों अन्य दोस्त बहुत ही घनिष्‍ठ मित्र थे। यह लोग कक्षा आठ से स्नातक का साथ पढ़े थे। राकेश के परिवारीजन जो भी तहरीर देंगे उसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस