लखनऊ, जागरण संवाददाता। इंदिरानगर निवासी एक किशोरी से उसका पड़ोसी चार साल से दुष्कर्म कर रहा था। आरोपित ने किशोरी की अश्लील फोटो व वीडियो बना ली थी, जिसे वायरल करने की धमकी देकर वह उसका शारीरिक शोषण कर रहा था। पीड़िता की नानी ने गाजीपुर थाने में इसकी शिकायत की, जिसके बाद पुलिस ने आरोपित को दबोच लिया।

सेक्टर सी इंदिरानगर निवासी आरोपित हिमांशु शुक्ल से जब पुलिस ने पूछताछ की तो कई चौंकाने वाली बाते सामने आईं। आरोपित ने बताया कि वर्ष 2017 में हिमांशु ने किशोरी को प्रसाद खिलाने के बहाने घर में बुलाया था। इस दौरान उसने किशोरी से दुष्कर्म किया और उसकी अश्लील तस्वीर व वीडियो बना लिए। वीडियो वायरल करने की धमकी देकर किशोरी को दोबारा बुलाया और उसके साथ फिर से दुष्कर्म किया। आरोपित पीड़िता को गर्भ निरोधक गोलियां खिलाता था। यही नहीं फोन पर पीड़िता से अश्लील व गंदी बातचीत करता था। आरोपित किशोरी का धमकाकर अपने दोस्तों से फोन पर गंदी बातें करवाता था।

लोगों ने दिया हौसला तो सामने आई नानी: किशोरी की नानी को आरोपित की हरकतों पर शक हुआ। इसपर उन्होंने उसकी शिकायत करने की सोची, लेकिन हिमांशु की धमकियों से वह भी डर गईं। इसके बाद स्थानीय लोगों ने महिला को हौसला दिया। लोगों का साथ पाकर किशोरी की नानी ने हिम्मत दिखाई और रिपोर्ट दर्ज कराई। आरोपित के पास से तीन मोबाइल मिले हैं।

पत्‍नी, बच्चे को घर से निकाला: पत्‍नी को जब हिमांशु की हरकतों का पता चला तो उन्होंने विरोध जताया। इसपर आरोपित ने पत्‍नी और बच्चे को घर से निकाल दिया। किशोरी माता पिता की मौत के बाद से अपनी नानी के साथ रहती है।

पिता की बीमारी का बहाना कर मंगवाता था रुपये: आरोपित ने किशोरी के पिता की बीमारी का बहाना बनवाकर उसे लोगों से रुपये मांगने की ट्रेनिंग भी दी थी। इसके लिए आरोपित ने पीजीआइ अस्पताल से किशोरी के पिता के नाम का फर्जी कागज बनवाया था। उस कागज पर किशोरी के हस्ताक्षर करवाए थे और उसे इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट कर लोगों से मदद के तौर पर रुपये मांगने के लिए कहता था। परेशान होकर किशोरी ने घरवालों से शिकायत की बात कही तो हिमांशु उसके पूरे परिवार की हत्या की धमकी देने लगा।

Edited By: Rafiya Naz