लखनऊ(जागरण संवाददाता)। राजधानी में 20 दिन पहले जेल से छूटे छेड़छाड़ के आरोपित राजू सोनकर (32) ने फांसी लगाकर ली। घर के अंदर बल्ली से गमछे के सहारे रविवार सुबह(11 मार्च को) शव लटका मिला। शव लटका देख उसके भाई सुरेश की चीख निकल पड़ी। परिवारीजनों की मदद से शव को नीचे उतारा गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

शव के पास पड़ा था सुसाइड नोट

मामला हुसैनगंज क्षेत्र के पुराना किला का है। यहां का निवासी मृतक राजू सोनकर सब्जी का काम करता था। शनिवार रात मकान के प्रथम तल पर राजू का शव लटकता मिला। पुलिस ने मृतक के पास से तलाशी में एक सुसाइड नोट बरामद किया। नोट में उसने खुद को मौत का जिम्मेदार ठहराते हुए परिवारीजनों से माफी मांगी।

क्या लिखा था सुसाइड नोट में?

दारोगा संतोष सिंह ने बताया कि सुसाइड नोट में राजू ने लिखा है कि वह अपनी मौत का खुद जिम्मेदार है। गलतियों पर शर्मिदा है। उसने परिवारीजनों से माफी मांगी है। पुलिस के मुताबिक, राजू 20 दिन पहले छेड़छाड़ के मामले में जेल से छूटा था। चार महीने पहले उसकी भाभी ने ही उस पर छेड़छाड़ मुकदमा दर्ज कराया था। जिसके बाद उसे जेल भेजा गया था। जेल से छूटने के बाद से वह गुमसुम रहता था। आत्मग्लानि में उसने फांसी लगा ली।

Posted By: Jagran