लखनऊ, जेएनएन। Bahubali Dhananjay Singh will Campaign for Dimple Yadav in Mainpuri: मैनपुरी लोकसभा उप चुनाव में समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी डिंपल यादव को समर्थन देने की घोषणा करने के बाद जनता दल यूनाइटेड ने अब एक बड़ा कदम उठाया है। पार्टी ने पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह को डिंपल यादव के लिए प्रचार करने का भी काम सौंप दिया है।

बिहार की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय महासचिव माफिया धनंजय सिंह पर लखनऊ पुलिस ने जनवरी 2021 में आजमगढ़ के ठेकेदार अजीत सिंह की हत्या की साजिश करने पर 25 हजार का ईनाम भी घोषित किया है। जनता दल के प्रधान राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी मंगलवार को मैनपुरी में धनंजय सिंह तथा जनता दल यूनाइटेड के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष अनूप सिंह पटेल के साथ मीडिया से वार्ता भी करेेंगे।धनंजय सिंह के मैनपुरी में प्रचार कार्यक्रम पर कई नेताओं की भी नजर है।

जौनपुर से बहुजन समाज पार्टी के सांसद रहे बाहुबली धनंजय सिंह ने जौनपुर से मल्हनी से विधानसभा चुनाव भी लड़ा था, लेकिन पराजय मिली। इसी दौरान पुलिस उसकी तलाश करती रही, जबकि धनंजय सिंह जौनपुरी में अपनी पत्नी को जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़ाने में लगा था। धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला धनंजय सिंह जौनपुर से निर्दलीय पंचायत अध्यक्ष हैं।

बाहुबली धनंजय सिंह भी डिंपल यादव के प्रचार में

बिहार में जनता दल यूनाइटेड का समर्थन करने वाली समाजवादी पार्टी के पक्ष में नीतीश कुमार की पार्टी ने बाहुबली धनंजय सिंह को भी डिंपल यादव के प्रचार में लगा दिया है। समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद मैनपुरी में पांच दिसंबर को होने वाले उप चुनाव में धनंजय सिंह सपा उम्मीदवार डिंपल यादव का चुनाव प्रचार करेंगे। भारतीय जनता पार्टी ने डिंपल यादव के खिलाफ इटावा से सांसद रहे रघुराज सिंह शाकय को मैदान में उतारा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को रघुराज सिंह शाकय के पक्ष में चुनावी सभा की थी। इससे पहले उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक तथा योगी आदित्यनाथ सरकार के आधा दर्जन मंत्री भी शाक्य के प्रचार में लगे हैं।

धनंजय सिंह ने इससे पहले जौनपुर में मुलायम सिंह यादव की जयंती पर 22 नवंबर को उनको नमन करने के साथ ही कहा था कि समूचा विपक्ष भी मुलायम सिंह यादव का सम्मान करता था। जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय महासचिव पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने कहा कि सैफई में नेताजी की अन्येष्टि में देश भर से लोग आए थे। नेताजी मुलायम सिंह अगर एक जाति को लेकर चले होते तो आज उनकी यह लोकप्रियता नही बनती। धनंजय सिंह ने कहा कि वर्ष 2003 में उनके साथ कार्य करने का अवसर मिला तो वे सदन में सभी विधायकों को बराबर का सम्मान देते थे। राजनीति में वैचारिक मतभेद हो सकतें है परन्तु राजनैतिक मदभेद नही होने चाहिए।

धनंजय 25 हजार के इनामी और कोर्ट से भगोड़ा

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने 25 हजार के इनामी धनंजय सिंह को छह जुलाई 2021 को भगोड़ा घोषित कर दिया था। जिसके बाद पुलिस ने उनके घर पर नोटिस भी चस्पा किया था। धनंजय सिंह पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह हत्याकांड में आरोपी है। कोर्ट ने इस केस में धनंजय सिंह के खिलाफ एफआईआर निरस्त करने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया था। इसके बाद कोर्ट ने धनंजय को दो हफ्ते में सरेंडर करने का आदेश दिया था, लेकिन धनंजय सिंह कोर्ट में अभी तक हाजिर नहीं हुआ।

गौरतलब है कि बाहुबली धनंजय सिंह को लखनऊ में 6 जनवरी 2021 की शाम विभूतिखंड में मऊ के पूर्व ब्लाक प्रमुख और हिस्ट्रीशीटर अजीत सिंह की हत्या की साजिश में नामजद किया गया। धनंजय सिंह का नाम एफआईआर में नहीं था लेकिन लखनऊ कमिश्नरेट पुलिस ने जांच में धनंजय को हत्याकांड की साजिश में शामिल होने का आरोपी बनाया।

Edited By: Dharmendra Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट