लखनऊ, जागरण संवाददाता। बुधवार को महर्षि वाल्मीकि जयंती के अवसर पर मंदिरों में रामचरित मानस पाठ का आयोजन होगा। ऐसे में लक्ष्मणनगरी में रामजनित मानस का पाठ गूंजेगा। जिले में कुल 23 मंदिरों पर रामचरित मानस पाठ होगा। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अनुपम श्रीवास्तव को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। इसमे हनुमान मंदिर और राम मंदिरों पर यह आयोजन होगा। यह काम पूरे प्रदेश में मंदिरों में होगा। इसके अलावा भगवान श्रीराम से जुड़े पौराणिक स्थलों पर भी आयोजन होंगे। यह पाठ आठ, बारह और चौबीस घंटे तक होगा। यह आयोजन भी आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर चल रहे महोत्सव के अंतर्गत किया जाना है। रामायण का आयोजन जिलों के साथ-साथ तहसील और विकास खंडों में भी होंगे। 

भगवान श्रीराम से जुड़े हैं देशभर में 280 स्थलः महर्षि वाल्मीकि द्वारा वर्णित रामायण में राम जानकी मार्ग, राम वन गमन मार्ग पूरे देश में करीब 280 हैं । उत्तर प्रदेश में राम जानकी मार्ग, राम वन गमन मार्ग जैसे कई स्थल हैं। जहां आज भी भारतीय संस्कृति के मूल तत्व एवं मान्यताएं सुरक्षित हैं। लखनऊ के इन मंदिरों पर होगा पाठ - नया हनुमान मंदिर अलीगंज, पुराना हनुमान मंदिर अलीगंज, पंचमुखी हनुमान मंदिर अलीगंज, नीम करौरी मंदिर हनुमान सेतु, रैदास मंदिर बड़ा चांदगंज, सरनदास मंदिर निराला नगर, झंडे वाला पार्क मंदिर अमीनाबाद, रामलीला मंदिर ऐशबाग, बालाजी हनुमान मंदिर तालकटोरा, वरदानी हनुमान जी मंदिर दुबग्गा, वाल्मीकि मंदिर परिवर्तन चौक, पंचमुखी हनुमान मंदिर विष्णुलोक कालोनी कृष्णानगर,रामजानकी मंदिर टिकैतराय, रामजानकी मंदिर वॉटर वक्र्स, लोकेश्वरनाथ मंदिर आनंद नगर आलमबाग, विश्वकर्मा मंदिर लालकुआं, महामंडलेश्वर मंदिर विशेश्वर नगर आलमबाग, सहसावीर मंदिर कृष्णानगर, मुंडावीर बाबा मंदिर गीतापल्ली, इमलीया बाबा मंदिर अनौरा कला चिनहट, शिव मंदिर ग्राम कठवारा बीकेटी, चंद्रिका देवी धाम बीकेटी और ओमकारेश्वर मंदिर ग्राम कुम्हरावा। 

Edited By: Vikas Mishra