अयोध्या, जेएनएन। 

-----

संवाद सूत्र, अयोध्या : रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष एवं मणिरामदासजी की छावनी के महंत नृत्यगोपालदास के प्रति अपमानजनक टिप्पणी से भड़के उनके दर्जन भर भक्तों ने दोपहर तपस्वीजी की छावनी के उत्तराधिकारी महंत परमहंसदास के कक्ष पर धावा बोल दिया। परमहंसदास की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े भक्त हमलावर भी दिखे। परमहंसदास ने स्वयं को अपने कक्ष में बंद रखा। कुछ देर में एडीएम सिटी डॉ. वैभव शर्मा, एसपी सिटी विजयपाल ङ्क्षसह, सीओ सिटी अमर ङ्क्षसह, कोतवाल सुरेश पांडेय, चौकी प्रभारी यशवंत द्विवेदी आदि के साथ बड़ी संख्या में पुलिस के जवान पहुंचे। इसके बावजूद नृत्यगोपालदास के भक्त अड़े रहे।

भक्तों के जत्थे की अगुवाई कर रहे आनंददास शास्त्री ने कहा, हम जान न्योछावर कर देंगे पर महंत नृत्यगोपालदास जैसे गुरु का अपमान नहीं सहेंगे। अधिकारियों की मान-मनौवल के बीच भक्तों ने परमहंसदास के कक्ष का दरवाजा तोडऩे की कोशिश की। पुलिस ने परमहंसदास को उत्तेजित भक्तों से किसी तरह बचाते हुए उनके कक्ष से निकाला और अपने साथ ले गई। सीओ अमर ङ्क्षसह ने बताया कि बवाल बचाने के लिए परमहंसदास को सुरक्षित स्थान पर रखा गया है। इस बीच छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमलनयनदास ने कहा, रामजन्मभूमि मुक्ति महोत्सव के बीच इस तरह की अनर्गल बयानबाजी करने वालों के विरुद्ध प्रशासन को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

::::

क्रद्गश्चशह्म्ह्लद्गह्म् ष्ठद्गह्लड्डद्बद्यह्य :

9999 

 

बता दें कि महंत परमहंसदास ने एक निजी चैनल पर उज्ज महाराज श्री के संदर्भ में हुए डीबेट की थी जिस पर रामजन्म भूमि न्यास अध्यक्ष व रामनगरी के शीर्ष संत महंत नृत्य गोपालदास के समर्थकों में खासा आक्रोश था। उत्तराधिकारी कमलनयन दास के शिष्य आनंददास ने परमहंसदास को अज्ञानी और मूर्ख बोला साथ ही ये भी कहा था कि टीवी चैचल पर आने के लिए ज्ञान की जरूरत होती है। अज्ञानता में उज्ज महाराज श्री के संदर्भ में चैनल में इन्होंने डिबेट की है वो अशोभनीय है अभद्रतापूर्ण है। उन्होंने कहा कि डिबेट लेकर हमने महंत नृत्य गोपालदास पर एफआइआर भी की है। इनकी शीघ्र गिरफ्तारी होनी चाहिए। जिसके बाद गुरुवार सुबह महंत नृत्य गोपालदास के भारी संख्या में आए समर्थकों ने महंत परमहंसदास के आवास का घेराव कर दिया। देखते ही देखते वहां भारी संख्या में पुलिस बल तैैनात हो गई। इसी बीच महंत परमहंसदास को गिरफ्तार कर लिया गया। 

पहले भी चर्चा में आ चुके हैं परमहंसदास  

परमहंसदास को पुलिस ने हिरासत में लिया मंदिर निर्माण की मांग को लेकर आमरण अनशन कर चर्चा में आ चुके हैं। परमहंसदास आत्मदाह का एलान करने पर  जेल भी जा चुके हैं। 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप