लखनऊ, जेएनएन। Gangster Act on Dr. Alka Rai of Mau: माफिया मुख्तार अंसारी को पंजाब में एम्बुलेंस उपलब्ध कराने के मामले में उनकी करीबी मऊ की डाक्टर अलका राय के खिलाफ भी बड़ी कार्रवाई की गई है। डा अलका राय पर गैंगस्टर तालीम करने के साथ ही मऊ में 2.5 करोड़ का अस्पताल कुर्क किया गया है।

माफिया मुख्तार अंसारी को जेल से आने-जाने के दौरान एम्बुलेंस उपलब्ध कराने वाली मऊ की डाक्टर डॉ. अलका राय के हॉस्पिटल श्याम संजीवनी को बाराबंकी पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई कर कुर्क किया है। इस अस्पताल के नाम से ही मुख्तार अंसारी के उपयोग में लाने वाली एम्बुलेंस थी। इसी को माडीफाई कराकर मुख्तार पूरे प्रदेश और देश में चलता था।

रोपड़ जेल में भी रहने के दौरान इस एंबुलेंस का इस्तेमाल

मुख्तार अंसारी के पंजाब में रोपड़ जेल (Ropad Jail) में भी रहने के दौरान इस एंबुलेंस का इस्तेमाल हुआ था, जो बाराबंकी से रजिस्टर्ड थे। मामला सामने आने के बाद अलका राय और उनके अस्पताल के एक डॉक्टर को जेल भी जाना पड़ा था। अब अलका राय पर गैंगस्टर एक्ट के तहत अस्पताल को कुर्क किया है। इस संपत्ति की कुल कीमत दो करोड़ 50 लाख रुपये बताई जा रही है। अभी डाक्टर अलका राय और उनके साथी डाक्टर एसएन राय जमानत पर हैं।

दो वर्ष से कार्रवाई

डाक्टर अलका राय पर अपने अस्पताल के लेटर पैड पर एम्बुलेंस देने के मामले में दो वर्ष से कार्रवाई चल रही है।मुख्तार अंसारी की एम्बुलेंस की पड़ताल के दौरान पता चला कि वह एम्बुलेंस बाराबंकी से डा. अलका राय के नाम पर ली गई है जिसमें कि और अधिक गहराई पर छानबीन करने पर पता चला कि यह मऊ जिले की श्याम संजीवनी हास्पिटल को संचालित करने वाली डाक्टर अलका राय की एम्बुलेंस है। इस मामले में मुख्तार अंसारी समेत आधा दर्जन से ऊपर लोग जेल गए थे।  

Edited By: Dharmendra Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट