लखनऊ, आईएएनएस। गणतंत्र दिवस के दौरान सैनिक स्कूल और सेंट जोसेफ कॉलेज के छात्रों के बीच झड़प के एक दिन बाद लखनऊ के कैप्टन मनोज कुमार पांडेय सैनिक स्कूल ने छह छात्रों को निष्कासित कर दिया है। एक स्टाफ सदस्य को भी बर्खास्त कर दिया है और दूसरे को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

यूपी के अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन (यूपीएसए) ने सैनिक स्कूल कैडेटों के खिलाफ जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार के पास शिकायत दर्ज कराई है। पत्र में कहा गया है कि सैनिक स्कूल के लड़कों ने सेंट जोसेफ कॉलेज के 74 छात्रों के साथ गाली-गलौज की और मारपीट की। सैनिक स्कूल के लड़कों ने बैगपाइप बैंड में शामिल 25 लड़कियों को परेशान किया। सैनिक स्कूल के प्रिंसिपल कर्नल राजेश राघव ने कहा यह सब सेंट जोसेफ स्कूल और सैनिक स्कूल के छात्रों के बीच कहासुनी से शुरू हुआ। दोनों स्‍कूलों के बच्‍चों के बीच मारपीट हुई। इस दौरान मैं तुरंत मौके पर पहुंचा और स्थिति को नियंत्रण में किया।

यूपीएसए द्वारा एक शिकायती पत्र में कहा गया है कि स्कूल कैडेट हिंसा में शामिल थे और सेंट जोसेफ के छात्र इसका शिकार हो रहे थे। यह पूरी तरह से झूठ है। गलती दोनों स्‍कूलों के छात्रों की थी। क्योंकि दोनों समूहों के छात्र घायल हो गए थे। जहां तक उत्पीड़न के आरोपों का संबंध है, यह स्पष्ट है कि इस मुद्दे को गंदे स्तर तक खींचा जा रहा है। घटना के तुरंत बाद, स्कूल ने आरडी परेड से अपनी टुकड़ी वापस ले ली, जिसमें हम लगभग हर साल पुरस्कार जीतते हैं। ए कैडेटों का साथ देने वाले स्टाफ सदस्य को बर्खास्त कर दिया गया है, जबकि एक अन्य को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

अधिकारियों ने कहा कि सैनिक स्कूल प्रशासन ने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए छात्रों पर कार्रवाई की है। इस बीच, सेंट जोसेफ कॉलेज के संस्थापक प्रबंधक अनिल अग्रवाल ने भी जिला निरीक्षक राकेश कुमार, जिला मजिस्ट्रेट सूर्यपाल गंगवार के पास शिकायत दर्ज कराई। उन्‍होंने का क‍ि हमारी स्कूल की प्रिंसिपल अमिता सिंह ने बताया कि सैनिक स्कूल के छात्र हमारे छात्रों को बेल्ट और बूट से पीट रहे हैं।

कक्षा 9 की एक छात्रा को सैनिक स्कूल के एक लड़के ने रिहर्सल के दौरान परेशान किया। लड़की का भाई कक्षा 9 का छात्र भी परेड का हिस्सा था और उसीका लड़के के साथ झगड़ा हुआ था। घटना के बाद छात्रों को एक न‍िजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। अनिल अग्रवाल ने बताया क‍ि हमारी दो महिला शिक्षक भी इस घटना में घायल हो गईं। हमारे 34 छात्र, जिनमें छात्राएं भी शामिल हैं, घायल हो गए। पांच छात्रों के सिर में गंभीर चोटें आई हैं। मैं इस मामले में कड़ी कार्रवाई चाहता हूं।

Edited By: Prabhapunj Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट