लखनऊ (जागरण संवाददाता)। लखनऊ विश्वविद्यालय (लविवि) के सामने चल रहे मेट्रो के निर्माण कार्य में उपद्रवी छात्र अड़ंगा लगा रहे हैं। शुक्रवार को मेट्रो के सुरक्षाकर्मियों की बेरहमी से पिटाई के बाद फिर दो अज्ञात छात्रों ने काम न होने देने की धमकी दी। शनिवार को हुई इस घटना के बाद कर्मचारी और सहम गए हैं। ऐसे में उन्होंने उपद्रवी छात्रों पर रंगदारी मांगने और धमकाने का आरोप लगाते हुए लविवि से मदद की गुहार लगाई है।

फिलहाल मारपीट करने के आरोप में 20 अज्ञात छात्रों पर एफआइआर दर्ज कर उनकी शिनाख्त करने में पुलिस जुटी हुई है। लविवि के गेट नंबर चार व गेट नंबर दो पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली जा रही हैं। लविवि के सामने इस समय मेट्रो का निर्माण कार्य चल रहा है। एल एंड टी कंपनी ने एक कार्यदायी संस्था को हजरतगंज से लेकर मुंशी पुलिया तक के निर्माण का काम दिया है।

फिलहाल बीते कुछ दिनों से छात्र इस निर्माण कार्य में अड़ंगा लगा रहे हैं। शुक्रवार को करीब 20 अज्ञात छात्रों ने सुरक्षाकर्मियों की पिटाई कर उन्हें लहूलुहान कर दिया था। पुलिस अभी इन उपद्रवी छात्रों को पकड़ भी नहीं पाई है कि फिर शनिवार को दो अज्ञात छात्रों ने काम में लगे कर्मचारियों को धमकाया। कार्यदायी संस्था ने इन छात्रों के हास्टल के होने और इनमें से कुछ को हबीबुल्लाह हॉस्टल के पीछे भी दिखने का जिक्र है।

यह भी पढ़ें: मुजफ्फरनगर में टीचर के थप्पड़ से कक्षा पांच के छात्र की आंख हुई घायल

पुलिस अपने स्तर पर जो कार्रवाई करेगी वह तो ठीक है लेकिन अगर यह छात्र ही हैं तो इनकी पहचान लविवि से ही हो सकती है। ऐसे में कार्यदायी संस्था ने लविवि को पत्र लिखा है। एसओ हसनगंज पीके झा का कहना है कि शनिवार को सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए हैं और मारपीट करने वालों को चिन्हित करने का काम चल रहा है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ में सड़ी सब्जियों में रंग डालकर बनाया जा था रहा सॉस

Posted By: Amal Chowdhury

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस