लखनऊ, जागरण संवाददाता। कोरोना के न्यू ओमिक्रोन वैरिएंट को लेकर लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने रविवार को इंटरनेशनल एअरपोर्ट पर अधिकारियों के साथ आपात बैठक की। इस दौरान उन्होंने विदेश से सीधे आने वाली सभी फ्लाइट के यात्रियों का आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य किए जाने का निर्देश दिया है। इसके अलावा लक्षण युक्त समस्त डोमेस्टिक फ्लाइट के यात्रियों की भी आरटीपीसीआर जांच जरूरी होगी। साथ ही थर्मल स्कैनिंग भी की जाएगी।

डीएम ने डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर थर्मल स्कैनिंग के लिए चार काउंटर बनाए जाने को निर्देशित किया है। उन्होंने कहा कि डोमेस्टिक व इंटरनेशनल दोनों एयरपोर्ट पर यात्रियों की निश्शुल्क आरटीपीसीआर जांच की जाए। जिलाधिकारी ने समस्त यात्रियों से कोरोना से बचाव के लिए आरटीपीसीआर जांच और थर्मल स्कैनिंग में सहयोग की अपील की है। साथ ही अपना नाम, सही पता और मोबाइल नंबर देने को कहा है।

डीएम के महत्वपूर्ण निर्देशः

इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर मुख्यतः दुबई, शारजाह, अबु धाबी, मस्कट, ओमान, रियाद, जद्दाह, दम्माम, कुवैत और जॉर्डन की डायरेक्ट फ्लाइट आती है। इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर प्रतिदिन लगभग नौ फ्लाइट आती है, जिसमें लगभग 1800 यात्री आते हैं। विदेश से आने वाली समस्त फ्लाइट के यात्रियों का निश्शुल्क आरटीपीसीआर जांच सुनिश्चित कराई जाए। इसकी ज़िम्मेदारी एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस की होगी। समस्त यात्रियों की 15 दिन की ट्रेवल हिस्ट्री दर्ज करना सुनिश्चित किया जाए।

डोमेस्टिक एअरपोर्ट पर भी बढ़ाएं सतर्कताः

बैठक में एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा जिलाधिकारी को बताया गया कि डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर नए वैरिएंट प्रभावित राज्यों जैसे मुम्बई, दिल्ली, गोवा, कोलकाता, हैदराबाद, चेन्नई, बैंगलुरू, कोचीन, अहमदाबाद, जयपुर आदि से प्रतिदिन लगभग 25 फ्लाइट आती है। इसमें करीब 4500 यात्री आते हैं। डीएम ने कहा कि इन यात्रियों की सघन थर्मल स्कैनिंग और लक्षण वाले यात्रियों का आरटीपीसीआर जांच की जाए। इसके लिए दो शिफ्ट में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाएं। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता को बर्दाश्त नही किया जाएगा।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी, अपर जिलाधिकारी पूर्वी, एयरपोर्ट अथॉरिटी, समस्त एयरलाइंस के पदाधिकारी व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Edited By: Dharmendra Mishra