लखनऊ, (धर्मेंद्र मिश्रा)। कोरोना संक्रमण से मुक्त हो जाने के बाद भी इसका वायरस शरीर में कई महीने तक मौजूद रह सकता है। यह शरीर का भार कम करने के साथ ही, थकान, कमजोरी पैदा करता है। भूख मर जाती है। इसका असर मरीज की रिपोर्ट निगेटिव आ जाने के बाद भी बना रह सकता है, जो धीरे-धीरे किडनी, हार्ट, फेफड़े व ब्रेन पर विपरीत असर डाल सकता है। इन अंगों को वह कमजोर भी बना सकता है। इसलिए रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी कम से कम दो माह तक विटामिन सी व जिंक की खुराक लेते रहना जरूरी है। ताकि लॉस हो चुकी इम्युनिटी को कवर किया जा सके।

विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना संक्रमित हो जाने के बाद इम्यूनिटी अगले तीन माह तक रिकवर नहीं हो पाती। कोरोना के ख़िलाफ़ अब तक विटामिन सी व जिंक बेहतरीन हथियार साबित हुए हैं। यह शानदार इम्युनिटी बूस्टर हैं। इसलिए संक्रमणमुक्त हो जाने के बाद भी अगले दो तीन माह तक विटामिन सी व जिंक का प्रचुर मात्रा में सेवन करते रहना चाहिए। अन्यथा शरीर में थकान, कमजोरी, चक्कर आने जैसी तात्कालिक समस्याएं पैदा हो सकती हैं। रामसागर मिश्र अस्पताल में कोरोना टीम के लीडर व सैकड़ों पॉजिटिव मरीजों को डिस्चार्ज कर चुके डॉक्टर रोहित सिंह कहते हैं कि कोरोना से जंग लड़ने के लिए इम्युनिटी का बेहतर होना बहुत जरूरी है। विटामिन सी व जिंक ने मरीजों को जल्द रिकवर करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रही है।

उन्होंने बताया कि आरएसएम अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके व भर्ती सभी मरीजों को यह खुराक नियमित रूप से दी जा रही है। इसके साथ ही विटामिन डी-3 लेने की भी सलाह दी जाती है। रिपोर्ट निगेटिव हो जाने या डिस्चार्ज हो जाने के बाद भी यह खुराक तब तक लेते रहना चाहिए, जबतक कि पूर्ण रूप से मरीज स्वस्थ महसूस न करने लगे। वहीं एक बार खुद संक्रमित हो चुके सिविल अस्पताल के वरिष्ठ परामर्शदाता व फिजीशियन डॉ एससी मौर्या कहते हैं कि अस्पताल से डिस्चार्ज हुए महीने भर हो गए, लेकिन कोरोना के साइड इफ़ेक्ट मैं अब भी महसूस कर रहा हूं। वजन कम होने के साथ, थकान, कमजोरी बुरी तरह हावी है।

उन्होंने कहा कि पहले मुझे लगा यह समस्या मेरे साथ ही होगी, लेकिन अब देख रहा हूं कि ज्यादातर कोरोना मरीज जो संक्रमण मुक्त हो चुके हैं, उनमें दो-तीन माह तक यह समस्या बनी हुई है। इसलिए मेरी सलाह है कि ठीक हो जाने के बाद भी कोरोना मरीज को कम से कम दो तीन माह तक विटामिन सी व जिंक की खुराक जरूर लेते रहना चाहिए। इससे आपकी खोई हुई इम्युनिटी में जल्द सुधार होगा। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस