लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में कोरोना संक्रमण का प्रकोप जारी है। शनिवार को वायरस ने रिकॉर्ड 36 मरीजों की जान ले ली। वहीं 5913 लोग संक्रमण की जद में आ गए। लगातार पांचवें दिन संक्रमितों की संख्या पांच हजार के ऊपर रही। उधर केजीएमयू से लेकर एसजीपीजीआइ, लोहिया, बलरामपुर, सिविल, लोकबंधु व अन्य अस्पतालों के स्टाफ के संक्रमित होना जारी है। शनिवार को भी कई डाक्टर व स्टाफ के संक्रमित होने की खबर है। लगातार पांच दिनों से 24 घंटे में संक्रमित होने वाले मरीजों का आंकड़ा पांच हजार से ऊपर जा रहा है। इन पांच दिनों के दौरान ही लखनऊ में 28 हजार 509 लोग संक्रमित हो गए हैं। जबकि 129 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं एक अप्रैल से 17 अप्रैल तक 270 मरीजों की वायरस जान ले चुका है। इससे मरीजों को भर्ती व इलाज कराने की व्यवस्था भी लगातार चरमराती जा रही है।

एक अप्रैल से रोजाना 18 से अधिक मौत: एक अप्रैल से मौतों में लगातार तेजी दर्ज की जा रही है। एक दिन में अब तक मरने वालों का सबसे बड़ा आंकड़ा शनिवार को 36 रहा है। अब एक अप्रैल से औसतन एक दिन में 18 से अधिक मरीजों की कोरोना से जान जा रही है। अब राजधानी में कुल मौतों का आंकड़ा 1481 पहुंच चुका है। सक्रिय मरीजों की संख्या 44 हजार 485 हो गई है। बीते 24 घंटे में एक दिन में रिकॉर्ड 2176 को डिस्चार्ज किया गया है।

  • लखनऊ में कोविड का प्रमुख आंकड़ा

  • अब तक कुल पॉजिटिव- 139837
  • कुल डिस्चार्ज -93871
  • कुल मौतें- 1481
  • सक्रिय मरीज 44485

स्वास्थ्य विभाग ने जांच व भर्ती का आंकड़ा देना किया बंद: अपनी कमजोरी छिपाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पिछले कई दिनों से रोजाना जांचे जाने वाले नमूनों व भर्ती किए जाने वाले मरीजों का आंकड़ा जारी करना बंद कर दिया है। क्योंकि स्वास्थ्य विभाग की टीम पांच सात दिनों तक भी पॉजिटिव के संपर्क में आए लोगों की जांच नहीं कर पा रही है। इस बारे में बात करने के लिए सीएमओ डा. संजय भटनागर को कई बार फोन किया गया, लेकिन उन्होंने रिसीव नहीं किया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप