लखनऊ, जेएनएन। राजधानी के वजीरगंज मसकगंज स्थित रामजानकी मंदिर में रविवार रात करीब 3:15 बजे प्रथम तल पर स्टोर रूम में रखे सिलेंडर में ब्लास्ट हो गया। धमाका इतना जोरदार था कि प्रथम तल के दरवाजे और खिड़की भी उड़ गईं। यहां तक कि दीवारें व छत में दरारें पड़ गई। मंदिर की रेलिंग गिर गई। हादसे में वहां सो रहे पुजारी बाल बाल बच गए। 

यह है मामला 

वजीरगंज मसकगंज क्षेत्र में रामजानकी मंदिर के प्रथम तल पर ठेकेदार किशनलाल गुप्ता का परिवार रहता है। वहीं नीचे ओर पुजारी अनुज दीक्षित रहते हैं। रविवार रात सवा तीन बजे करीब प्रथम तल पर स्टोर रूम में रखे सिलेंडर में फट गया। जिससे मंदिर की दीवारों में दरार आ गई, रैलिंग टूटकर गिर गई। वहीं हादसे में  ठेकेदार किशनलाल गुप्ता का परिवार व नीचे सो रहे पुजारी अनुज दीक्षित बाल बाल बच गए। घटना के वक्त घर मे किशन लाल के अलावा उनकी पत्नी राधा, बेटा मनीष, बहू रोली, पौत्र अथर्व व पौत्री मुद्रिका अपने अपने कमरे में सो रहे थे।

दोपहर 3 बजे आया था सिलेंडर

मनीष के मुताबिक रविवार करीब 3 बजे गोलागंज स्थित गीता गैस एजेंसी से इंडियन का सिलेंडर आया था। गैस एजेंसी मालिक अजीत दीक्षित के मुताबिक घटना के विषय मे इंडियन ऑयल के अधिकारियों को दे दी गई है। उनकी टेक्निकल टीम मुआयना करेगी। नुकसान की भरपाई कंपनी करेगी।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस