लखनऊ (जेएनएन)। राजधानी लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली क्षेत्र में प्रेमी युगल साथ जी तो नहीं सके, लेकिन साथ मरने की कसम को पूरा कर दिया। प्रेमी युगल ने हाथ की नस काटी। प्रेमी की तो छत पर ही मौत हो गई जबकि प्रेमिका ने पांचवीं मंजिल से छलांग लगा दी।  

कैसरबाग के मकबूलगंज कटरा निवासी आनंद तिवारी का बेटा ओजस (18) एनिमेशन मीडिया की पढ़ाई कर रहा था। पड़ोस में रहने वाले रत्नाकर पांडेय की बेटी काजल (20) नवयुग डिग्री कॉलेज में बीएससी तृतीय वर्ष की छात्रा थी। शुक्रवार सुबह करीब पौने सात बजे जिम जाने के लिए निकली एक महिला ने युवक-युवती का शव अपार्टमेंट परिसर में देखकर पुलिस कंट्रोल रूम फोन किया। छानबीन के दौरान शवों की शिनाख्त ओजस और काजल के रूप में हुई। सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र के मुताबिक युगल ने अपार्टमेंट की छत पर बाएं हाथ की नस काटी थी। छत पर खून बिखरा पड़ा था। इंस्पेक्टर हजरतगंज का कहना है कि युगल गुरुवार शाम करीब साढ़े छह बजे घर से निकला था। परिवारीजन दोनों की खोजबीन भी कर रहे थे। 

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि दोनों प्रेमी युवाल की पहचान हो गई है। पुलिस इस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है। कैसरबाग कोतवाली प्रभारी डीके उपाध्याय ने बताया कि लड़की के ताऊ ने गुरुवार रात 11:45 बजे लड़के के खिलाफ बहला फुसलाकर ले जाने की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। दोनों कटरा ,मकबूल गंज के रहने वाले हैं। लड़के का नाम ओजस (22) है जबकि उसकी प्रेमिका काजल (20) है, दोनों पढ़ाई करते थे। पड़ताल में पता चला है कि दोनों ने घरवालों से छिपकर लव मैरिज कर ली थी। उनके पास सर्टिफिकेट भी है। हालांकि पुलिस सभी बिंदुओं पर आगे की कार्रवाई कर रही है।  कैसरबाग कोतवाली में गुरुवार रात में लड़की के घरवालों ने बहला फुसलाकर भगा ले जाने की एफआईआर दर्ज कराई थी। शादी करना चाहते थे दोनों, लेकिन घरवाले नहीं थे राजी। लड़की के घरवालों ने गुरुवार रात को लड़के के खिलाफ कैसरबाग में मुकदमा दर्ज करवाया था। पुलिस इस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है। दोनों ने नाईट सूट पहन रखा था। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि सिर्फ हाथ की नस कटी है और पूरे शरीर पर चोट के निशान नही है। इससे साफ है कि उनका किसी से संघर्ष नही हुआ है। 

 

कैसरबाग में दर्ज कराई थी भगाकर ले जाने की रिपोर्ट 

युवती के परिवारीजनों का कहना है कि देर शाम तक जब काजल घर नहीं लौटी तो उन्होंने खोजबीन की, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। इसके बाद काजल के ताऊ भास्कर पांडेय ने कैसरबाग कोतवाली में शिकायत की। तहरीर में उन्होंने लिखा था कि 'काजल शाम करीब पौन सात बजे से लापता है। उन्हें आशंका है कि पड़ोस में रहने वाला ओजस उसे फुसलाकर ले गया है। यह बात ओजस के परिवारीजनों का पता है। मेरी भतीजी को मुक्त कराएं। इंस्पेक्टर कैसरबाग डीके उपाध्याय के मुताबिक पीडि़त की तहरीर पर गुरुवार रात करीब 11:39 बजे ओजस के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली गई थी।

लखनऊ में जापलिंग रोड पर सूरजदीप काम्प्लेक्स के पास युवक- युवती के शव मिले। काम्प्लेक्स के छत पर युवक का शव पाया गया, जबकि वहां से नीचे गिरने से युवती की मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया दोनों प्रेमी युगल बताए जा रहे हैं। दोनों ने छत पर हाथ की नसें काट ली थीं, इसके बाद युवती ने छलांग लगा दिया था। वहीं युवक की छत पर ही मौत हो गई थी। पुलिस को मौके से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है। जिसमें सिमकार्ड नहीं लगा है मामले की जांच की जा रही है। 

खून से लथपथ मिले दोनों के शव

सूरज दीप कॉन्प्लेक्स में आज सुबह पांच बजे तक चौकीदार ने बताया कुछ भी नहीं था। वह जब चाय पीने के लिए गया। उसके बाद लोगों ने देखा कि एक युवक और युवती के खून से लथपथ शव जमीन पर पड़े हैं। इसकी सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिए। पता चला है कि दोनों ने पहले अपने हाथ की नस काट ली। उसके बाद 5 मंजिल से छलांग लगा दी। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। फिलहाल अभी तक उनके नामों के बारे में नहीं पता चल पाया है। पुलिस को मौके से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है। जिसमें सिमकार्ड नहीं लगा है मामले की जांच की जा रही है।

कैसरबाग पुलिस ने की शिनाख्त 

सोशल मीडिया पर युवक-युवती के शव मिलने की जानकारी पर इंस्पेक्टर कैसरबाग एफआइआर कॉपी के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने शव देखकर दानों की शिनाख्त की। इसके बाद काजल और ओजस के परिवारीजनों को सूचना दी।

पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि कहीं दोनों के घरवाले शादी करने से तैयार नहीं होंगे या फिर कोई अन्य वजह हो सकती है। पुलिस विभिन्न बिंदुओं को लेकर मामले की तफ्तीश कर रही है। पुलिस अधिकारियों ने आसपास में लगे सीसीटीवी फुटेज निकलवाने के लिए निर्देश दिए हैं। मौके पर फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम भी पहुंची और खून के सैंपल लिए। पुलिस को मौके से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है। जिसमें सिमकार्ड नहीं लगा है। स्थानीय लोगों ने हत्या की भी आशंका जताई है। 

युवक ओजस तिवारी का शव पोस्टमार्टम हाउस पहुंचने पर उसके घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। मां तो पछाड़ खाकर रो रही थी। 

पुलिस पर लापरवाही का आरोप 

ओजस के घरवालों ने सिविल अस्पताल में जमकर हंगामा किया। ओजस की मां अंजू ने कैसरबाग पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस ने समय से दोनों की खोजबीन की होती तो उनका बेटा जिंदा होता। ओजस के घरवालों ने भी कैसरबाग कोतवाली में जाकर बेटे की गुमशुदगी के बारे में पुलिस से शिकायत की थी। आनंद ने तहरीर में जिक्र किया था कि उनका बेटा लापता हो गया है और उन्हें संदेह है कि काजल उसे साथ ले गई है। पुलिस का कहना है कि इस मामले में भाष्कर ने पहले ही रिपोर्ट दर्ज करा दी थी, ऐसे में तहरीर को उसी मुकदमे में शामिल कर लिया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021