लखनऊ, जेएनएन। Tiddi Dal Attack: प्रदेश के कई जिलों में रविवार को टिड्डी दल ने हमला कर दिया। राजधानी लखनऊ में करीब 15 किलोमीटर लंबे और पांच किलोमीटर चौड़ाई वाले टिड्डी दल ने उत्पात मचाया। उन्नाव से सुबह उड़ा टिड्डी दल काकोरी-उन्नाव सीमा से लखनऊ में प्रवेश कर गया था। हरदोई और बाराबंकी में टिड्डी दल ने फसलों को नुकसान पहुंचाया। पहले से सतर्क कृषि विभाग व किसानों ने दिनभर टिड्डियां भगाने के उपाय किए। मुख्यमंत्री ने टिड्डियों से फसल सुरक्षा के हर संभव उपाय करने के निर्देश के साथ लापरवाही बरतने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

बाराबंकी में टिड्डियों के एक दल लखनऊ की ओर से प्रवेश किया और फसल को नुकसान पहुंचाया है। हरदोई में फर्रुखाबाद से आए टिड्डी दल दो भागों में बंट गया। पहला दल बावन क्षेत्र के गांवों में पहुंचा। दूसरे ने लखनऊ रोड के मदारा से खेतुई समेत कई गांवों में हमला कर दिया।

 

बहराइच-श्रावस्ती होते हुए टिड्डियों का दल रविवार सुबह बलरामपुर पहुंचा तो किसान बचाव के लिए खेतों में जुट गए। टिन, थाली व शंख बजाने के साथ शोर मचाकर टिड्डियों को नेपाल भगाने में सफल रहे। लखीमपुर खीरी के मैगलगंज और पसगवां क्षेत्रों में कृषि कर्मचारियों ने किसानों को अलर्ट किया है। रायबरेली में भी किसान सचेत हैैं। 

लखनऊ में पुलिस ने हूटर सायरन बजाकर भगाया टिड्डी दल 

लखनऊ में दोपहर 11 बजे काकोरी से लेकर ठाकुरगंज के बीच आसमान पर टिड्डी दल ही नजर आ रहा था। लोग छतों पर चले गए और थालियां बजाकर उसे भगाने लगे। साउंड सिस्टम को जोर-जोर से बजाया जाने लगा। पुलिस के हूटर सायरन भी गूंजने लगे। दो बजे के करीब यह दल बाराबंकी की तरफ निकल गया। 

लखनऊ के कृषि रक्षा अधिकारी धनंजय सिंह ने बताया कि टिड्डी का दल शनिवार को उन्नाव और कानपुर में था। सुबह काकोरी सीमा से लखनऊ में आया जिसे भगाने के सभी उपाय किए गए।

फर्रुखाबाद से हरपालपुर, सांडी होते हुए हरदोई के आसमान में टिड्डी दल मंडराता दिखा। हरदोई से सीतापुर पहुंचा टिड्डी दल करीब 200 गांवों से गुजरा। बहराइच के रुपईडीहा, महसी, शिवपुर, तेजवापुर, मिहींपुरवा समेत अन्य ब्लॉकों में पहुंच गया। वहीं श्रावस्ती के गिलौला के बाद रतनापुर, सोनवा से होते हुए भिनगा में फसलों को नुकसान पहुंचाने लगा है।

टिड्डियों पर नियंत्रण पाने में कोताही न बरतें : मुख्यमंत्री

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टिड्डियों को नियंत्रित करने में कोई कोताही न बरतने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी ट्वीट में टिड्डी दल पर प्रभावी नियंत्रण के लिए रसायन का छिडक़ाव करने की हिदायत दी गई है। वहीं टिड्डी दलों को नष्ट करने को प्रशासनिक अमला जुटा है। किसानों की मदद लेने के साथ कृषि विभाग की टीमें भी बचाव में लगी हैं। कीटनाशक रसायनों का छिडक़ाव कराने के लिए ड्रोन, ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर्स व अग्निशमन के वाहन लगे हैं। कृषि निदेशक सौराज सिंह ने बताया कि रविवार को लखनऊ, उन्नाव, श्रावस्ती, गोंडा, सीतापुर, बाराबंकी, हरदोई व आगरा में ट्ड्डिी दल उड़ान पर है। शनिवार रात हरदोई के ब्लाक अहिरौरी व बावन में दो दलों ने प्रवास किया। अग्निशमन के तीन वाहनों व तीन ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर्स की मदद से इनमें से करीब 90 प्रतिशत टिड्डियों को नष्ट कर दिया गया। श्रावस्ती व आगरा के गांवों में टिड्डियों ने हमला किया परंतु केंद्रीय टीम के साथ स्थानीय कर्मचारियों ने रसायन का छिडक़ाव कर 65-70 प्रतिशत टिड्डियों को नष्ट कर दिया है।

 

बलरामपुर पहुंचा टिड्डियों का दल, भगाने में जुटे किसान

टिड्डी दल बहराइच व श्रावस्ती से होते हुए पहले बलरामपुर नगर पहुंचा। अचलापुर, सेखुइया, कोयलरा गांव में लोगों ने शोर कर भगाने का प्रयास किया। इसके बाद हरैया सतघरवा ब्लॉक के भगता, इमिलिया, मणिपुर, भरहापारा, भक्ता व सोनपुर गांव पहुच गया। टिड्डियों का दल पेड़ों बैठ गया। खेतों में खड़ी फसलों को नुकसान पहुंचाने में जुटा है। किसान थाली, डिब्बा बजाकर भगाने का प्रयास कर रहे हैं। जिले में टिड्डियों के हमले को देखते हुए कृषि महकमा अलर्ट हो गया है। कृषि विभाग का दल जिले के विभिन्न क्षेत्रों के लिए रवाना हो गया है। जिला कृषि मंजीत कुमार ने बताया कि जिले में टिड्डियों का दल पहुंच चुका है। ऐसे में किसानों को सतर्क रहने की जरूरत है। विभाग की टीम हरैया व तुलसीपुर में मुस्तैद है। भगाने का प्रयास किया जा रहा है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस