लखनऊ, जेएनएन। कोरोना संक्रमण के चलते सरकार द्वारा घोषित की गयी रविवार तक की बंदी का असर राजधानी मेें पूरी तरह दिख रहा है। सड़़कों पर पुलिस का पहरा है और केवल आवश्‍यक सेवाओं से जुडे लोगों को ही बाहर निकलने की छूट दी जा रही है। बेवजह बाहर निकलने वालों के लिए पुलिस हर चौराहेे चेकिंग कर उनको लौटा रही है। बंदी से सबसे अधिक मुश्किल बाहर से आने वाले यात्रियों को उठानी पड रही है। हालांक‍ि प्रशासन ने टिकट दिखाकर निजी वाहन इस्‍तेमाल करने की छूट दी है लेकिन इसके बावजूद हवाई अडडा, रेलवे स्‍टेशन और बस स्‍टेशनों पर लोग जमा हैं।

 

बाहर से आने वालों के लिए अपने गंतव्‍यों तक पहुंचने के लिए वाहन नहीं मिल पा रहे हैं जिससे अफरातफरी है। प्रशासन ने स्‍टेशन के बाहर बसों का इंतजाम किया है लेकिन इसके बावजूद लोगों की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। हालांकि शहर में सभी प्रमुख बाजार, दुकानें और निजी व सरकारी कार्यालय बंद हैं। पुलिस और प्रशासन के बडे अधिकारी स्थिति पर नजर रखे हैं। बंदी का पालन कराने के लिए प्रशासन ने अस्‍सी टीमें बनायी हैं जो थानावार सक्रिय रहकर नियमों का पालन करा रही हैं।

बाजार बंद, पुलिस कर रही निगरानी

गोंडा: कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने 55 घंटे के लाॅकडाउन का आदेश जारी किया है। इसका असर यहां दिख रहा है। बाजार पूरी तरह से बंद है। पुलिस अधिकारी भ्रमण कर व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं। शनिवार की सुबह से ही चौक, भरत मिलाप चौराहा, पीपल तिराहा, गुड्डूमल तिराहा, रानी बाजार, बड़गांव की दुकानें बंद हैं। सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। शहर में हर चौराहे पर पुलिस की तैनाती है। महिला अस्पताल में आने वाले मरीजों को नियमों का पालन करने के लिए सीएमएस डा एपी मिश्र एनाउंसमेंट करके जानकारी दे रहे थे।| एएसपी महेंद्र कुमार ने बताया कि लाकडाउन को लेकर पुलिस सतर्क है| उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई होगी।


बाराबंकी में सड़कों पर पसरा रहा सन्नाटा 

बाराबंकी : प्रदेश सरकार के 55 घंटे लॉकडाउन के आदेश का असर शनिवार को सुबह से दिखा। शहर के घंटाघर, धनोखर, छाया चौराहा, बेगमगंज, रेलवे स्टेशन आदि जगहों पर दुकानें बंद रही। मुख्य चौराहों से लेकर बाजार में पुलिस गश्त भी तेज रही। सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। मुख्य बाजार में जहां लोग भीड़ लगाकर निकले उनको पुलिस ने खदेड़ा। जिला चिकित्सालय में अन्य दिनों की अपेक्षाकृत भीड़ कम रही। ग्रामीण क्षेत्र में भी लॉकडाउन का असर दिखा दुकानें मुख्य बाजारों की बंद रही।

अंबेडकरनगर : छिटपुट आवागमन के बीच लॉकडाउन में पसरा सन्नाटा

प्रदेश सरकार की ओर से सूबे में 55 घंटे के लिए लगाए गए लॉकडाउन का असर शहर से लेकर गांव तक नजर आता है। राष्ट्रीय और राज्य मार्गों पर छिटपुट आवागमन के अलावा बाजारों में सन्नाटा पसरा है। प्रमुख स्थानों पर पुलिस नाकेबंदी कर अनावश्यक रूप से बाहर निकलने वाले लोगों से पूछताछ के बाद वापस घर भेज रही है। पाबंदियों का पालन कराने के लिए नोडल अधिकारी संबंधित इलाकों में भ्रमणशील हैं। अनलॉक की पाबंदियों का सक्रियता से पालन नहीं करने की वजह ने महामारी को पांव पसारने का मौका दिया। तेजी से बढ़ते संक्रमण को देखते हुए 55 घंटे का लॉकडाउन लगाया गया है।

शुक्रवार की रात दस बजे से सोमवार की सुबह पांच बजे तक संपूर्ण पाबंदियों का पालन करना होगा। इस प्रयास के जरिए महामारी के खतरे पर नकेल लगाने का प्रयास किया जा रहा है। रोजाना बढ़ते मामले इस बात की गवाही देते हैं कि अनलॉक की सुविधा का सदुपयोग करने के बजाए मनमानी बरती गई। जिला प्रशासन ने संपूर्ण जनपद में पाबंदियों को प्रभावी किया है। विस्तृत आदेश जारी करते हुए जिलाधिकारी ने इसका अनुपालन सुनिश्चित कराने के लिए मजिस्ट्रेटों की तैनाती की है।

सीतापुर : बाजार बंद, सड़क पर सन्नाटा

55 घंटे की बंदी के पहले दिन शहर व ग्रामीण क्षेत्र का बाजार पूरी तरह से बंद रहा। जिले की सड़कों पर भी सन्नाटा नजर आया। हालांकि सुबह के समय सब्जी मंडी में शारीरिक दूरी का मखौल उड़ा। लोग बगैर मास्क के भी नजर आए।

रायबरेली : हरचंदपुर की रघुवीर गंज बाजार एवं लखनऊ रायबरेली नेशनल हाईवे पर पसरा सन्नाटा। कुछ एक वाहन एवं भारी वाहन आते जाते देखे जा रहे हैं। 55 घंटे के प्रतिबंध के दौरान ऊंचाहार तिराहे पर दो पहिया वाहनों की चेकिंग करते पुलिस कर्मी।

लखीमपुर : सड़कों पर सन्नाटा 

शहर में लॉकडाउन के चलते बाजार पूरी तरह बंद रही सड़कों पर सन्नाटा भी रहा। लेकिन इस बीच लोगों का आवागमन भी जारी रहा। चौराहों पर खड़े पुलिसकर्मियों ने लोगों को रोक रोक कर हिदायत भी दी। किसी ना किसी काम के बहाने लोग घर से निकल रहे बाहर।

सुलतानपुर :  सभी दुकानें पूरी तरह से बंद

जिले के शनिवार को लॉकडाउन के तहत सभी दुकानें पूरी तरह से बंद रही। सड़को पर भी इकादुका लोग ही दिखाई पड़े। वहीं शहर कोतवाली के सामने सीओ सिटी द्वारा चेकिंग लगाई गई। इस दौरान वाहनों से आते जाते लोगों को रोक कर बाहर निकलने का कारण पूछा। वहीं बिना कारण निकले पांच वाहन चालकों पर कार्रवाई भी की गई।

लखनऊ के अमीनाबाद, नक्खास में जहां आम दिनों में पैर रखने की जगह नहीं होती है। वहां आज सन्नाटा पसरा रहा,  हालांकि इक्का दुक्का लोग आते जाते रहे। गलियों और चौराहे पर बैरिकेडिंग लगी रही। वहीं सिटी स्टेशन के पास चौराहे पर लाइन से ठेले लगाकर रास्ता रोका गया। 

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस