लखनऊ, जेएनएन। लखनऊ में कोरोना वायरस का दायरा बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को छह और मरीजों में से चार शहर के रहे। वहीं कई नए इलाकों में भी वायरस ने दस्तक दे दी है। ऐसे में संबंधित क्षेत्रों में हड़कंप है। संक्रमित मरीजों में एक पीजीआइ की संविदा कर्मी है। राजधानी में को दो नए हॉटस्पॉट के साथ कुल हॉटस्पॉट की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। फातिमा अस्पताल महानगर और उसके आसपास का क्षेत्र एवं न्यू हैदराबाद का मर्चेंट अपार्टमेंट को नए हॉटस्पॉट के तौर पर चिह्नित किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की संस्तुति पर दोनों इलाकों में बैरीकेडिंग लगाकर सील कर दिया गया है। संपर्क में आए संदिग्ध के नमूने लिए जा रहे हैं। साथ ही इलाके में सैनिटाइजेशन का काम भी कराया जा रहा है।

सीएमओ कार्यालय के अनुसार निशातगंज स्थित फातिमा अस्पताल के चार लोगों का स्टाफ कोरोना पॉजिटिव निकला था। वहीं न्यू हैदराबाद के मर्चेट अर्पाटमेंट में दो मरीज सामने आने बाद इसे भी हॉट स्पॉट बनाया गया है। पीजीआइ की संविदाकर्मी बालागंज क्षेत्र में रहती है। पीजीआई पहुंचने पर उसमें बुखार, जुकाम के लक्षण मिले। ऐसे में डॉक्टरों ने जांच की सलाह दी। लैब में वायरस की पुष्टि हुई है। इसके अलावा इंदिरा नगर के पानी गांव में एक मरीज में वायरस की पुष्टि हुई। अलीगंज सेक्टर-ई में मरीज में वायरस की पुष्टि हुई। यह तीनों इलाके नए हैं। ऐसे में क्षेत्र में हड़कंप है। वहीं गोमतीनगर के विभूति खंड के एक आपर्टमेंट में निवासी पुरुष में संक्रमण की पुष्टि हुई है। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के मुताबिक मरीज के परिवारजनों व संपर्क में आने वालों की जांच कराई जा रही है। इसके अलावा गोमती नगर के एक निजी अस्पताल में भर्ती बनारस निवासी मरीज में संक्रमण पाया गया। इसके अलावा लोहिया संस्थान में दिखाने आए मऊ निवासी 55 वर्षीय हृदय रोगी में कोरोना की पुष्टि हुई है। शहर में मरीजों की संख्या 416 हो गई है।

हरदोई में 11 पॉजिटिव

हरदोई में एक वर्षीय बच्ची समेत 11 कोरोना पाॅजिटिव निकले हैं। बुधवार की देर रात आई रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई। इसमें शहर क्षेत्र के रेलवेगंज और महोलिया शिवपार में एक-एक युवक हैं। वहीं सकरौली की एक वर्षीय बच्ची और उसके पिता भी हैं। इनके सैंपल मंगलवार को भेजे गए थे। अब तक जिले में 89 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। जिसमें 21 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। इस समय जिले मेें 68 कोरोना पाॅजिटिव हैं। रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एंबुलेंस से सभी संक्रमितों को कोविड अस्पताल भर्ती कराया गया है।

अयोध्‍या में चार नए मिले पॉजिटिव म‍िले

अयोध्या में चार और कोरोना पॉजिटिव मरीज म‍िले हैं। कोरोना संदिग्धों की जांच के लिए बुधवार को मेडिकल कालेज, झुनझुनवाला तथा मसौधा के क्वारंटाइन सेंटर से केजेएमयू नमूनों को भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट गुरुवार सुबह प्राप्त हुई है, जिसमे चार नए पॉजिटिव मरीज मिलने से स्वास्थ विभाग मरीजों को आइसोलेट करने के साथ उनके गांवो को सील करने की तैयारी में जुटा हुआ है। इसमे से एक पॉजिटिव मरीज पूरा बाजार के भदौली खुर्द, तारुन के इमलिया हैदरगंज तथा अमानीगंज क्षेत्र के देवगांव कुमारगंज से दो शामिल है। इसमें एक युवती व एक महिला भी शामिल है।

दिल्ली से आए भाई-बहन कोरोना पॉजिटिव मिले 

लखीमपुर में दो पॉजिटिव म‍िले है। दोनों पॉजिटिव पाए गए प्रवासी भाई-बहन हैैं। ग्राम औरंगाबाद थाना मैगलगंज ब्लाक पसगवां के निवासी हैं और दिल्ली से आए हैं। वर्तमान में दोनों होम क्‍‍‍‍वारंंटाइन में है। कोविड केयर सेंटर, जगसड़ नकहा में भर्ती एक कोविड संक्रमित की रिपोर्ट न‍िगेटिव आई है और वर्तमान में पूर्ण रूप से स्वस्थ होने के चलते आज देर  शाम डिस्चार्ज कर दिया गया है।

लखनऊ में म‍िले 14 नए संक्रम‍ित

राजधानी में कोरोना थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को शहर में 14 लोगों में संक्रमण पाया गया। इसमें नर्स समेत अस्पताल के कर्मचारी शामिल हैं। वहीं, बलरामपुर जनपद के संक्रमित युवक की केजीएमयू में इलाज के दरम्यान मौत हो गई है। बलरामपुर के बोरिहार निवासी 30 वर्षीय युवक मुंबई से लौटा था। उसे सूखी खांसी, बुखार व सांस लेने में तकलीफ हुई। 27 मई को उसे केजीएमयू लाया गया। जांच में कोरोना की पुष्टि हुई। इसके बाद उसे आइसीयू में शिफ्ट किया गया। वेंटिलेटर पर इलाज चला।

संस्थान के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक, युवक के ऑर्गन फेल हो गए। ऐसे में जान नहीं बचाई जा सकी। बुधवार को उसकी मौत हो गई। परिवारजन को कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत बॉडी सौंप दी गई। साथ ही 14 दिन तक क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी गई है। इसके अलावा 14 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। राजधानी में चार सौ के पार हुई मरीजों की संख्या शहर में कोरोना के मरीजों का आंकड़ा 412 हो गया है। 15 अप्रैल को शहर में नया गांव निवासी 64 वर्षीय मरीज की मौत हो गई थी। वहीं, 19 मई को मौलवीगंज निवासी 52 वर्षीय सब्जी विक्रेता की मौत हो गई। 29 मई को बारूदखाना निवासी महिला की मौत हुई। इसके बाद 31 मई को फूलबाग निवासी बुजुर्ग की मौत हुई है। इस महिला की मौत को अभी कोरोना की मृत्यु दर में नहीं जोड़ा गया है। कारण इसको ब्रेन हेमरेज भी हुआ था।

निजी अस्पताल की चार नर्सों में संक्रमण

निशातगंज स्थित एक निजी अस्पताल में संक्रमित गर्भवती भर्ती हुई थी। ऐसे में संपर्क में आए स्टाफ को क्वारंटाइन में किया गया था। सीएमओ कार्यालय प्रवक्ता योगेश चंद्र रघुवंशी के मुताबिक, चार नर्सों में बुधवार को संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके अलावा एक न्यू हैदराबाद निवासी, बीकेटी में क्वारंटाइन दो प्रवासी मजदूर, माल में क्वारंटाइन एक प्रवासी मजदूर, राजेंद्र नगर निवासी एक मुंबई से लौटे व्यक्ति, एक बांसमंडी, एक जानकीपुरम निवासी मरीज है। वहीं, एक आरपीएफ का जवान भी शामिल है। कोविड अस्पताल के कम्प्यूटर ऑपरेटर, कपड़े विसंक्रमित करने वाले कर्मी में वायरस पीजीआइ में कोविड अस्पताल में तैनात कम्प्यूटर ऑपरेटर में वायरस की पुष्टि हुई है। यहां कर्मी के संपर्क में आए लोगों की टेस्टिंग कराई जा रही है।

वहीं, लोहिया संस्थान के कोविड अस्पताल में वार्ड की चादर-तकिया को विसंक्रमित करने वाले कर्मी में कोरोना की पुष्टि हुई है। यह कर्मी स्ट्रेलाइजेशन की मशीन पर तैनात था। यह धुली हुई वार्ड की चादर को मशीन में डालकर विसंक्रमित करता था। कुल पांच महिला व नौ पुरुषों में संक्रमण पाया गया।

संक्रमित व एनिमिक गर्भवती का लोकबंधु में सफल प्रसव  

राजधानी के लोकबंधु कोविड अस्पताल में महिला डॉक्टरों की टीम ने कोरोना संक्रमित एक गर्भवती महिला का सफल प्रसव कराया है। डॉक्टरों के अनुसार, महिला एनिमिक थी और उसे लगातार ब्लीडिंग हो रही थी। इसके अलावा ब'चे की धड़कन भी तेज हो गई थी और उसने गर्भ में ही लेट्रिन कर दिया था। इससे केस बेहद जटिल हो गया था, लेकिन डॉक्टरों ने महिला को कुछ इंजेक्शन लगाए और हालात को काबू करने की कोशिश की। जटिलताएं बढऩे पर सीजेरियन से प्रसव कराया गया।

लोकबंधु अस्पताल में स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग की डॉ. संध्या सिंह ने बताया कि बांसमंडी इलाके की 23 वर्षीय गर्भवती को मंगलवार को अपराह्न करीब साढ़े तीन बजे भर्ती कराया गया था। कोरोना के चक्कर में वह अपनी कई जरूरी जांचें भी नहीं करा पाई थीं। इसलिए उसकी वास्तविक स्थिति समझने में परेशानी भी हो रही थी। रात को 11.47 बजे सीजेरियन से महिला की डिलीवरी कराई गई। ब'चे का नमूना भी कोरोना जांच के लिए भेजा जाएगा। महिला का प्रसव कराने वाली टीम में डॉ. पूनम, डॉ. आशीष, स्टाफ नर्स-गीता, गिरिजा, डॉ. अरुण इत्यादि शामिल रहे।  

पांच निजी अस्पतालों के विभाग सील

विवेकानंद और होप हॉस्पिटल, फातिमा, अवध हॉस्पिटल व राधा स्पेशलिस्ट अस्पताल समेत कुल पांच निजी अस्पतालों के कुछ विभाग को कोरोना संक्रमित द्वारा इलाज कराए जाने के चलते 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। संपर्क में आए डॉक्टर और कर्मचारियों को होम क्वारंटाइन रहने को कहा गया है। राजेन्द्र नगर निवासी युवक सांस लेने दिक्कत होनी पर स्वामी विवेकानंद हॉस्पिटल गया था। युवक ने निजी लैब से जांच करवाई तो बुधवार को कोरोना की पुष्टि हुई। वही बांस मंडी निवासी कोरोना संक्रमित पुरुष ए पी सेन रॉड स्तिथ होप मदर एन्ड चाइल्ड केयर हॉस्पिटल गया था। डिप्टी सीएमओ अनूप श्रीवास्तव ने बताया कि सीएमओ के आदेश पर इन अस्पतालो के उन विभागों को बंद कर दिया गया है जहां संक्रमित मरीजो का इलाज हुआ था। संपर्क में आए डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ की सूची मांगी गई है। इनके सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जाएंगे। अन्य तीन अस्पतालों में भी संक्रमित के संपर्क में आए लोगों का ब्यौरा मांगा गया है और उनके भी कुछ विभाग को 24 घंटे के लिए बंद किया गया है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस