UP News: लखनऊ, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) का विशेष जोर पर्यटन (UP Tourism) पर है। वैश्विक पटल पर यहां के पर्यटन स्थलों को पहचान दिलाने के लिए सरकार ने विदेशी टूर आपरेटर, इंटरनेट मीडिया पर सक्रिय प्रभावी लेखक, ब्लागर आदि का सहयोग लेने की पहल की है। इस योजना के तहत लेबनान (Lebanon Tour Operators) का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही यूपी आ रहा है, जो यहां के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक महत्व वाले स्थलों का भ्रमण करेगा।

पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव मुकेश कुमार मेश्राम ने बताया कि लेबनान के टूर आपरेटरों ने उत्तर प्रदेश भ्रमण की इच्छा जाहिर की है। इस पर पर्यटन विभाग की ओर से लेबनान के टूर आपरेटरों के साथ ही ट्रैवल ब्लागर, पत्रकार, फोटोग्राफर और इंटरनेट मीडिया इन्फ्लूएंसर्स को आमंत्रित किया गया है।

उन्होंने बताया कि प्रतिनिधिमंडल के लिए फैम टूर का आयोजन किया जाएगा, जिसमें वह यूपी की ऐतिहासिक, सांस्कृतिक धरोहरों से परिचित होने के साथ-साथ यहां के मुख्य व्यंजनों का लुत्फ भी उठा सकेंगे। प्रदेश के विभिन्न पर्यटन स्थलों पर ले जाकर वहां के वीडियो उनकी भाषा फ्रेंच, अंग्रेजी और अरबी में बनवाए जाएंगे।

उन वीडियो का प्रचार-प्रसार वे अपने देश में करेंगे, जिससे भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता का प्रचार-प्रसार भी होगा। साथ ही पश्चिम मध्य एशिया और यूरोप के पर्यटकों को यूपी में पर्यटन के लिए आकर्षित किया जा सकेगा।

दरअसल, हाल ही में फ्रांस के राजनयिकों के साथ हुई बैठक के बाद गुरुवार शाम को पर्यटन विभाग के अधिकारियों ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये बेरुत में स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें लेबनान में भारत के राजदूत डा. सुहेल एजाज खान, राना जीतैनी और दुबई में इंडिया टूरिज्म से जुड़े सीतारमण अवने और लेबनान के प्रमुख टूर आपरेटर जीन अबाउंड भी शामिल रहे।

इसमें उप्र के ऐतिहासिक महत्व, प्राचीन सभ्यता, संस्कृति, पाक कला और यूनेस्को द्वारा चिह्नित हेरिटेज साइट पर आधारित टीवीसी का प्रेजेंटेशन किया गया। आगरा-ब्रज सर्किट, सूफी सर्किट, ईको टूरिज्म, बुद्धिस्ट सर्किट के पर्यटन स्थलों की विस्तार से जानकारी दी गई।

Edited By: Umesh Tiwari