लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश में कजरीतीज पर शिव मंदिरों में लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। हर-हर महादेव, ओम नम: शिवाय के बीच गंगाजल, दुग्ध, बेलपत्र, शहद, पुष्प, शमी, भांग, धतूरा आदि अर्पित कर भगवान शिव को प्रसन्न करने का जतन किया जाता रहा। मंदिर परिसर श्रद्धालुओं के उदघोष से गुंजायमान रहा। घंटा घडिय़ाल, हर-हर, बम-बम की गूंज माहौल को भक्तिमय करती रही। महिलाओं ने निर्जला व्रत रखकर देर रात घरों और मंदिरों में भगवान शिव का पूजन किया। नगर नगर भगवान शिव की झांकियां सजाई गईं।

भोले बाबा को खुश करने का जतन

वाराणसी, गोंडा, गोरखपुर, कानपुर, गढ़मुक्तेश्वर, इलाहाबाद मथुरा और अयोध्या के सिद्ध-प्रसिद्ध मंदिरों में बीती शाम से कावंडिय़ों का जत्था पहुंचना शुरू हो गया था। बुधवार सुबह तक जलाभिषेक व दर्शन-पूजन का सिलसिला जारी रहा। मंदिरों के बाहर लोगों ने घंटों कतार में लगकर भोले बाबा को खुश करने का जतन किया। इस दौरान मेला लगा रहा। गोंडा के ऐतिहासिक पृथ्वीनाथ मंदिर पर हर-हर महादेव, ओम नम: शिवाय के बीच शिवलाट पर कांवडिय़ों ने गंगाजल से अभिषेक कर भगवान शिव को प्रसन्न करने की कोशिश की। बलरामपुर के राप्ती नदी, कर्नलगंज के सरयू घाट व अयोध्या से सरयू का जल लाकर कांवडिय़ों ने कजरी तीज के दिन भगवान शिव का पूजन अर्चन किया। 

Posted By: Nawal Mishra