लखनऊ, जेएनएन। लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को उपद्रव के बाद हिंसा में चार किसान सहित आठ लोगों की मौत के मामले में राजनीतिक दलों ने पीडि़तों के पक्ष में मोर्चा खोलने के साथ उनके स्वजनों को आर्थिक सहायता देने का फैसला किया था। पंजाब तथा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों की घोषणा के बाद शुक्रवार को लखनऊ में चार किसान तथा एक पत्रकार के स्वजन को 50-50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की पहल पर लखीमपुर की घटना में जान गंवाने वाले चार किसानों और एक पत्रकार के स्वजनों को पंजाब और छत्तीसगढ़ सरकारों की ओर से शुक्रवार को 50-50 लाख रुपये की सहायता राशि दी गई। लखनऊ के एक बड़े होटल में सम्पन्न इस कार्यक्रम में कुल मिलाकर पांचों पीडि़त परिवार को एक-एक करोड़ रुपया की धनराशि प्रदान की गई।

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के प्रतिनिधि के रूप में वहां के कृषि मंत्री रणदीप सिंह नाभा और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रतिनिधि के तौर पर वहां के नगर विकास मंत्री शिव डहरिया ने मृतकों के स्वजनों को यह राशि चेक के रूप में आज यहां दी। लखीमपुर में बीती तीन अक्टूबर को हुई घटना में किसान नक्षत्र सिंह, लवप्रीत सिंह, दलजीत सिंह व गुरविंदर सिंह तथा पत्रकार रमन कश्यप की मृत्यु हुई थी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ बीती छह अक्टूबर को लखीमपुर पहुंचे पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मृत किसानों व पत्रकार के आश्रितों को अपनी राज्य सरकारों की ओर से 50-50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी। इसी क्रम में शुक्रवार को यह सहायता प्रदान की गई।  

Edited By: Dharmendra Pandey