लखीमपुर, जेएनएन। लखीमपुर खीरी कांड के मुख्य आरोपित आशीष मिश्र समेत तीन आरोपितों की जमानत अर्जी पर सोमवार को सुनवाई होगी। इसी दिन कोर्ट में एसआइटी मामले के दोनों मुकदमों की केस डायरी भी प्रस्तुत करेगी। अब तक मामले में गवाहों के हुए बयानों समेत विभिन्न लैब रिपोर्ट भी कोर्ट में प्रस्तुत की जाएंगी।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के तिकुनिया इलाके में तीन अक्टूबर को हिंसा के दौरान चार किसान, एक पत्रकार समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। जिला बहराइच के नानपारा निवासी जगजीत सिंह की तहरीर पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के पुत्र आशीष मिश्र समेत 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ बलवा, हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले में 13 आरोपित जेल में हैं। दूसरे पक्ष से सभासद सुमित जायसवाल की तहरीर पर 20-25 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसमें चार आरोपित जेल में हैं।

किसानों की मौत के आरोपित आशीष मिश्र, लवकुश राणा और आशीष पांडेय की जमानत अर्जी पर सोमवार को जिला जज की अदालत में सुनवाई होगी। विवेचना के दौरान अब तक दोनों मुकदमों में धारा 164 सीआरपीसी के तहत न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने 96 गवाहों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं। हिंसा के दौरान असलहों से हुई फायरिंग के मामले में बैलिस्टिक रिपोर्ट भी आ चुकी है।

जिला जज ने दोनों मुकदमों की केस डायरी, आरोपितों का आपराधिक इतिहास, कब्जे में लिए गए असलहों और मोबाइल फोन की विधि विज्ञान प्रयोगशाला की रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए थे। जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी अरविंद त्रिपाठी ने बताया कि लखीमपुर खीरी कांड के उक्त तीनों आरोपितों की जमानत अर्जी पर सोमवार को जिला जज की कोर्ट में सुनवाई होनी है। अभियोजन पक्ष की तरफ से बहस में अपना पक्ष रखने के लिए पूरी तैयारी कर ली है।

Edited By: Umesh Tiwari