लखनऊ (जेएनएन)। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा है कि यहां भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान में आयोजित तीन दिवसीय (26 से 28 अक्टूबर) 'कृषि कुंभ में एक लाख किसान आएंगे। इसका उद्घाटन 26 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर सकते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से इसके लिए अनुरोध किया जा चुका है।

आने वाले किसान देश-दुनिया में खेतीबाड़ी की बेहतरी के लिए क्या-क्या हो रहा है, मॉडलों के जरिये इसका जीवंत प्रदर्शन देखेंगे। अपने क्षेत्र में जाकर खुद ऐसा करके औरों के लिए नजीर बनेंगे। गुरुवार को आयोजन स्थल पर भूमि पूजन के बाद शाही ने कहा कि जापान और इजराइल इसमें पार्टनर देश और हरियाणा पार्टनर राज्य के रूप में भाग लेंगे। कृषि निवेश बनाने वाली 200 से अधिक देशी-विदेशी कंपनियां अपने उत्पादों का स्टाल लगाएंगी।

पराली पर होगा खास सत्र

इस दौरान होने वाले 13 तकनीकी सत्रों में देश के जाने-माने कृषि विशेषज्ञ किसानों को खेतीबाड़ी के उन्नत तरीकों के बारे में बताएंगे। पराली को जलाने की बजाय कैसे उसे उपयोगी बनाएं इस पर खास सत्र होगा।

किसानों में कोई आक्रोश नहीं

एक सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि सरकार किसानों की बेहतरी के लिए लगातार काम कर रही है। किसानों में कहीं कोई आक्रोश नहीं है। कुछ समस्याएं थीं जिनको बातचीत से हल कर लिया गया।

परीक्षण में है मिट्टी जांच की रिपोर्ट

मिट्टी की जांच में गड़बड़ी के सवाल पर मंत्री ने कहा कि रिपोर्ट का परीक्षण हो रहा है। मालूम हो कि इस मामले में एपीसी ने जांच कर 29 सितंबर को रिपोर्ट मंत्री को भेजी थी। जांच में कई अधिकारी दोषी पाए गए थे।

15 को हर जिले में मनेगा महिला किसान दिवस

शाही ने बताया कि खेतीबाड़ी के क्षेत्र में महिलाओं की भूमिका को पहचान देने के लिए 'राष्ट्रीय महिला किसान दिवस मनाया जाएगा। इस दिन हर जिले, कृषि विज्ञान केंद्रों और कृषि विश्वविद्यालयों में गोष्ठियां होंगी। इनमें प्रगतिशील महिला किसानों को मंच देने के साथ उनको सम्मानित भी किया जाएगा।

इस अवसर पर कृषि राज्य मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह, पशुधन एवं मत्स्य राज्य मंत्री जयप्रकाश निषाद, प्रमुख सचिव कृषि अमित मोहन, निदेशक कृषि सोराज सिंह, निदेशक उद्यान डा.आरपी सिंह, निदेशक मत्स्य एसके सिंह और संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। 

Posted By: Ashish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप